समर्थन मूल्य पर उपज मंडी में बेचने के लिए किसान 19 अप्रैल तक करवाएं पंजीकरण

6
17407
samarthan mulya fasal panjiyan

उपज मंडी में बेचने के लिए पंजीकरण

कोरोना वायरस के कारण रबी फसल की खरीदी में देरी हो रही है परन्तु अब यह साफ हो गया है कि इस माह से रबी फसल की खरीदी शुरू हो जाएगी | इसके लिए अलग – अलग राज्य सरकार ने तारीख तय करने लगी है | जहाँ मध्यप्रदेश सरकार ने फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीदी की तारीख 15 अप्रैल तय की है वहीँ हरियाणा राज्य सरकार ने 15 अप्रेल से सरसों एवं 20 अप्रैल से गेहूं की खरीदी का फैसला लिया है |  हर बार की तरह इस वर्ष भी पंजीकृत किसानों से ही समर्थन मूल्य पर खरीदी की जाएगी |

कोरोना वायरस के कारण जिन किसानों ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उपज बेचने के लिए पंजीयन शुरू नहीं कराया है उनके लिए हरियाणा राज्य सरकार ने एक और मौका दिया है | अब राज्य के किसान मेरी फसल–मेरा ब्यौरा पोर्टल पर आज से 19 अप्रैल तक पंजीयन करा सकते हैं | वे सभी किसानों जो मेरी फसल–मेरी ब्यौरा पोर्टल पर पंजीयन करवाएंगे वह सभी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर रबी फसल को बेच सकते है | किसान समाधान गेहूं पंजीयन तथा खरीदी की जानकारी लेकर आया है |

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए पंजीयन फिर से शुरू किए गया है

किसानों के द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए राज्य सरकार के पास पंजीयन करना जरुरी रहता है | हरियाणा राज्य के  किसानों ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए पंजीयन मेरी फसल – मेरा ब्यौरा करवाया था परन्तु कोरोना वायरस के कारण पंजीयन को बीच में ही रोक दिया गया था | अब तक लगभग 60 प्रतिशत किसानों ने गेहूं की फसल का पंजीकरण करवाया है जबकि 40 प्रतिशत किसानों ने अब तक पंजीकरण नहीं करवाया है | किसानों की सुविधा के लिए ही मेरी फसल–मेरा ब्यौरा पोर्टल पुन: खोल दिया गया है जो 19 अप्रैल तक खुला रहेगा |

यह भी पढ़ें   50 प्रतिशत की सब्सिडी पर सिंचाई के लिए गहरी बोरिंग करवाएं

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए खरीद केन्द्रों की संख्या बढाई गई

कोरोना वायरस को देखते हुए कम समय में ज्यादा खरीदी की योजना है | इस बार प्रतिदिन 1.5 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद करने का प्रस्ताव है | इसके लिए राज्य में खरीदी केन्द्रों की संख्या को बढ़ाया गया है | सरसों के लिए 140 मंडियों जबकि गेहूं की खरीद के लिए लगभग दो हजार मण्डी, उप – मण्डी व खरीदी केंद्र निर्धारित किये गये हैं |

किसानों को दिए जाएंगे कूपन

किसानों की सरसों व गेहूं की खरीद के लिए मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल के आधार पर दी गई जानकारी के अनुसार कूपन दिए जाएंगे ताकि मंडियों में किसान एक साथ उपज लेकर किसान न आएं और निर्धारित तिथि के अनुसार ही विशेष गांवों के किसान क्रमवार अपनी उपज मंडियों में लेकर आएं |

कब से शुरू की जाएगी खरीद

राज्य में किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू होने जा रही है | इसके लिए सभी तैयारियां पूरी की जा रहा है | सरसों तथा चना कि खरीदी 15 अप्रैल से से की जाएगी तथा गेहूं कि खरीदी 20 अप्रैल से शुरू किया जाएगा | इस बार गेहूं की खरीद जून माह तक चलने की संभावना है |

यह भी पढ़ें   कोरोना लॉकडाउन में किसानों की सहायता के लिए सरकार ने जारी किये हेल्पलाइन नम्बर

मण्डी शुल्क का कुछ अंश कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए

सरकारी खरीदी में लगने वाले मण्डी शुल्क (आढती शुल्क) को कोरोना वायरस से निपटने के लिए दिया जाएगा | आढती एसोसिएशन ने आश्वासन दिया कि वे अपनी 2.5 प्रतिशत आढत में से 0.10 प्रतिशत रासी हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में दान करेंगे | केंद्र सरकार के दिशा – निर्देश पर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने वाले किसनों को बोनस राशि दिया जाएगा |

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण के लिए क्लिक करें 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

6 COMMENTS

  1. समर्थन मूल्य खरीद लोकडावन को ध्यान यानि कोरोना संकट के समय में भी किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए राजस्थान का जिला जोधपुर समर्थन मूल्य खरीद व टोकन की शुरुआत कब तक सरकार की तरफ से कोई निर्णय लिया गया है तो आम किसान को जानकारी उपलब्ध नहीं है माननीय कृषि मंत्री राजस्थान सरकार

  2. Lekhpal ki jamini kagaj dene me khoob kamai hogi! Kyoki khasara prapt karne me priti khet Rs 50.00 sewa sulk dena padata he Kishan ko!

    • यदि आपने पिछले वर्ष आवेदन किया था तो इस वर्ष सिर्फ आपको लॉक करना है | अन्य चीजों की आवशयकता नहीं

    • ऑनलाइन | ई मित्र केंद्र से पंजीकरण करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here