इन कृषि यंत्रों पर सरकार दे रही है 80 प्रतिशत तक सब्सिडी, किसान आवेदन करें

2
6669
views

यह कृषि यंत्र सब्सिडी पर लेने के लिए किसान आवेदन करें

हालाँकि बहुत से राज्यों एवं केंद्र सरकार ने नया बजट पेश कर दिया है परन्तु 31 मार्च तक पुराना वित्तीय वर्ष ही चलता है इस हिसाब से अभी वित्तीय वर्ष 2018 –19 का अंतिम माह चल रहा है और सभी राज्य सरकारें इस बजट का फंड में जो कृषि यंत्रों को के लिए फंड दिए गए थे उसे ख़त्म करना चाहती है इसलिए वह बचे हुए लक्ष्यों को पूरा करने में जुटी हुई है | जो किसान भाई पहले इन योजनाओं का लाभ नहीं ले पाए थे वे अब ले सकते हैं |

पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्यों में फसल के अवशेषों को जलाना, पर्यावरण प्रदूषण के स्तर को बढ़ाने में भी योगदान देता है। राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल ने इस द्विवार्षिक गंभीर खतरा से निपटने के लिए सख्त उपाय करने के लिए पराली जलाने पर सजा का भी प्राबधान किया है | पराली जलाने से होने वाले नुकसान एवं किसानों पर किसी तरह की कार्यवाई न हो इसके लिए यह राज्य सरकारें पराली प्रबंधन के लिए कृषि उपकरणों के उप-मिशन स्कीमों के तहत किसानों को सब्सिडी पर कृषि यंत्र दे रही है |

यह भी पढ़ें   ग्रीन हाउस,शेडनेट हाउस,प्लास्टिक मल्चिंग एवं सिंचाई उपकरण अनुदान पर लेने के लिए आवेदन करें

किन कृषि यंत्रों के लिए किसान आवेदन कर सकते हैं ?

डीएसआर मल्टी क्रोप प्लान्टर, रीपर बाईडर, पैडी ट्रांसप्लांटर, स्ट्रा बेलर, हे रेक, ट्रेक्टर जैसे कृषि यंत्रों पर 80 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जा रही है | हरियाणा के किसान अभी इन कृषि यंत्रों के लिए आवेदन कर सकते हैं |

आवेदन कब कर सकते हैं ?

हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा चालू वित्त वर्ष 2018-19 के लिए पराली प्रबंधन के लिए कृषि उपकरणों के उप-मिशन स्कीमों में सब्सिडी प्राप्त करने के लिए 1 से  7 मार्च, 2019 तक आवेदन कर सकते है।

योजना का लाभ लेने के लिए क्या करें ?

जो किसान भाई अपने जिले के कृषि अधिकारियों से सम्पर्क कर सकते हैं। विभाग की बैवसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। इसके अलावा, अधिक जानकारी ट्रोल फ्री नम्बर 18001802117 या  0172-2521900 से भी प्राप्त की जा सकती है।

किसान पंजीकरण हरियाणा

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here