back to top
28.6 C
Bhopal
मंगलवार, जून 25, 2024
होमकिसान समाचारइन किसानों को फसल नुकसानी का मुआवजा देने का काम शुरू...

इन किसानों को फसल नुकसानी का मुआवजा देने का काम शुरू होगा तीन दिनों में

फसल नुकसान का मुआवजा

वर्ष 2019-20 किसानों के लिए अभी तक अच्छा नहीं निकला है इस खरीफ सीजन में किसानों को अलग-अलग जगहों पर अधिक बारिश एवं सूखे के चलते खरीफ फसलों का उत्पादन बहुत कम हुआ | वहीँ रबी सीजन जो अभी चल रहा है उस पर भी बारिश एवं ओले के अतिरिक्त कीट जैसे टिड्डी एवं फॉल आर्मी वर्म कीट लगातार फसलों को नुकसान पहुंचा रहा है | अभी सबसे अधिक फसलों को नुकसान टिड्डी कीट ने पहुँचाया है | टिड्डी कीट के प्रकोप से कई जिलों में फसलें पूरी तरह बर्बाद हो गई हैं | यहाँ तक की टिड्डी कीट नियंत्रण के लिए सरकार किसानों को फ्री में कीटनाशक तक दे रही है उसके बाबजूद भी फसलों को नहीं बचाया जा सका है | ऐसे में सभी किसानों को सरकार से मदद की उम्मीद है |

किसानों को तीन दिन में शुरू किया जाएगा मुआवजा वितरण

अभी तक कई किसानों को अधिक बारिश एवं सूखे की स्थिति से जो फसलों को नुकसान हुआ है उसका मुआवजा तक नहीं दिया गया है ऐसे में राजस्थान सरकार अभी उन किसानों को जल्द मुआवजा देने वाली है जिनकी फसलों को टिड्डी कीट ने नुकसान पहुँचाया है |

यह भी पढ़ें   किसान इस साल करें धान की किस्म सबौर मंसूरी की खेती, कम खर्च में मिलेगा डेढ़ गुना से ज्यादा उत्पादन

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने टिड्डी प्रभावित जिलों में की जा रही विशेष गिरदावरी की रिपोर्ट शीघ्र भिजवाने और तीन दिन में प्रभावित किसानों को मुआवजा राशि का वितरण शुरू करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कलक्टर टिड्डी आक्रमण पर लगातार प्रभावी निगरानी रखें और किसानों से सम्पर्क रखकर नुकसान होने की स्थिति में जल्द से जल्द उन्हें मुआवजा दिलवाएं|

जैसलमेर, बाड़मेर, जालोर, जोधपुर, बीकानेर, पाली, श्रीगंगानगर एवं हनुमानगढ़ के जिला कलक्टरों से उनके जिलों में टिड्डी नियंत्रण के लिए किए जा रहे प्रयासों, वर्तमान स्थिति, गिरदावरी रिपोर्ट और फसलों के खराबे के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने कहा कि किसानों को शीघ्र राहत देने के लिए बिना किसी देरी के गिरदावरी का काम पूरा करें और उसकी रिपोर्ट जल्द से जल्द आपदा प्रबन्धन एवं सहायता विभाग को भिजवाएं, जिससे मुआवजा राशि तुरन्त जारी हो सके।

फसल बीमा योजना के तहत भी होगा भुगतान

किसानों को फसल नुकसानी का भुगतान न केवल मुआवजे के रूप में किया जाएगा बल्कि फसल बीमा कंपनियों द्वारा भी टिड्डी कीट ने जो नुकसान पहुँचाया है उसका क्लेम दिया जायेगा | बैठक में अधिकारियों ने बताया कि आपदा प्रबन्धन एवं सहायता विभाग ने प्रभावित जिलों में टिड्डी से हुए नुकसान को देखते हुए विशेष गिरदावरी करवाने के आदेश पहले ही जारी कर दिए हैं। ज्यादातर क्षेत्रों में यह कार्य लगभग पूरा हो चुका है और शेष कार्य जल्द पूरा कर लिया जाएगा। गिरदावरी से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार किसानों को तुरन्त सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। साथ ही फसल बीमा योजना में भी प्रभावित किसानों को सहायता दी जाएगी।

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

यह भी पढ़ें   किसान गर्मियों में करें खेतों की गहरी जुताई, मिलेगा 20 प्रतिशत तक अधिक उत्पादन

47 टिप्पणी

    • सर जिस कंपनी से फसल बीमा है उसके टोल फ्री नम्बर पर कॉल करें या अपने यहाँ के कृषि विभाग के अधिकारीयों से सम्पर्क कर फसल नुकसानी का सर्वे करवाएं |

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर