टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों में गिरदावरी अभियान शुरू, किसानों को जल्द दी जाएगी सहायता: मुख्यमंत्री

0
1719
tiddi fasal nuksan girdawari

टिड्डी प्रभावित किसानों को सहायता

रबी फसलों पर टिड्डी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है | राज्य सरकार की लाख कोशिशों के बाबजूद भी इस पर काबू नहीं पाया जा सका है | इसके लिए राज्य सरकार किसानों को टिड्डी नियंत्रण के लिए कीटनाशक फ्री में दे रही है | इसके अलावा भी 50 से ज्यादा टिड्डी नियंत्रण गाड़ी राज्य सरकर के द्वारा चलाई जा रही है | इसके बाबजूद भी टिड्डी पर नियंत्रण नहीं हुआ है | इसका मुख्य कारण यह है कि टिड्डी का आगमन पाकिस्तान से लगातार जारी है | जब तक पाकिस्तान एवं अन्य पडोसी देश टिड्डी पर नियंत्रण नहीं करते हैं जब तक भारत में भी कीट पर नियंत्रण करना असंभव सा है | इसके लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को खत लिखा है |

फसल नुकसान भरपाई के लिए गिरदावरी अभियान शुरू

रबी फसलों को हुए नुकसान के लिए राज्य सरकार ने किसानों को भरपाई के लिए कदम उठाया है | इसके लिए किसानों की फसल की गिरदावरी करने के निर्देश दिए है | इससे पहले रबी फसल का गिरदावरी मार्च तथा अप्रैल में की जाती थी लेकिन इस बार टिड्डी से फसल को हुए नुकसान की भरपाई के लिए जनवरी में ही गिरदावरी करने के निर्देश दिया गया है |

यह भी पढ़ें   आखिर इन किसानों से क्या गलती हुई जो इन्हें नहीं दी जा रही पीएम किसान योजना की किस्त

रबी फसल में जीरा, इसबगोल, अरंडी के फसलों को मुख्य रूप से नुकसान हुआ है | मुख्यमंत्री ने टिड्डी से प्रभावित किसानों को फसल नुकसानी के लिए एक सप्ताह के अंतर्गत गिरदावारी करने के निर्देश दिए गए है | मुख्यमंत्री कल राजस्थान के टिड्डी प्रभावित जिलों के दौरा पर थे | उनके साथ कृषि मंत्री लालचंद कटारिया एवं राजस्व मंत्री हरीश चौधरी भी साथ थे |

विभागीय अधिकारीयों से मुख्यमंत्री ने लिया स्थिति का जायजा

मुख्यमंत्री ने धनाऊ पंचायत समिति के सभागार में बैठक के दौरान जिले में टिड्डी दल के हमले से हुए नुकसान एवं रोकथाम के उपायों के बारे में विस्तार से जानकारी ली | कृषि विभाग के आयुक्त डा. ओमप्रकाश ने प्रदेश में टिड्डी के प्रकोप एवं रोकथाम के उपायों से अवगत कराया | उन्होंने बताया कि इस बार 1993 से भी बड़ा टिड्डी दल का हमला हुआ है | आमतौर पर टिड्डी नवम्बर–अक्तूबर में सक्रिय नहीं रहती लेकिन इस बार पाकिस्तान से असामान्य रूप से इनकी लगातार आवक जारी है | अभी तक बाड़मेर जिले में 3 लाख 15 हजार हेक्टेयर भूमि में टिड्डी रोकथाम के लिए कीटनाशक का छिडकाव किया गया है |

यह भी पढ़ें   अधिक बारिश से किसानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए एक हजार करोड़ रुपए जारी

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

kisan samadhan android app

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here