इन जगहों पर हो सकती है भारी बारिश के साथ ओला वृष्टि

2
1931
views
इन जगहों पर भारी बारिश के साथ ओला वृष्टि

भारी बारिश के साथ ओला वृष्टि की सम्भावना

जैसे  – जैसे रबी फसल की कटाई नजदीक आ रही है वैसे ही प्राकृतिक अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है | कुछ दिनों पहले ही कुछ प्रदेशों में ओला वृष्टि हुई थी जिससे रबी फसल की काफी नुकसान हुआ था | अब रबी फसल की कटाई का समय आया है तो फिर से प्राकृतिक प्रकोप किसी काल की तरह खड़ी फसल पर मंडराने लगा है | लेकिन प्राक्रतिक के सामने कुछ किया भी नहीं जा सकता है |

अभी भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार 6 फरवरी को पंजाब , हरियाण , हिमाचल , उत्तराखण्ड, जम्मु कश्मीर तथा राजस्थान के राज्यों में तेज हवा तथा गरज के साथ हलकी बारिश होने की संभावना है | इसके साथ ही इन राज्यों में 7 फरवरी को तेज बारिश होने की आसार है साथ ही ओला वृष्टि भी हो सकती है | इसका मुख्य कारण जम्मू कश्मीर पर बने पक्षिमी विक्षोभ के कारण , भारत के उत्तर पश्चिम मैदानी इलाकों में पिछले दो दिनों से कोहरे की परत जमी हुई है |

यह भी पढ़ें   सेंसर वाली दवा छिड़काव मशीन एवं ‘स्मार्ट फार्म’ ने किसानों को सिखाये इक्कीसवीं सदी की खेती के नवाचार

ओलावृष्टि एवं तीव्र आंधी साथ के साथ यहाँ हो सकती है बारिश

6 से 7 फरवरी को हिमाचल प्रदेश, उतराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तरी राजथान, बिहार एवं उत्तर प्रदेश में तेज आंधी के साथ ओले गिरने की सम्भावना है और यह मौसम  7  फरवरी तक बना रह सकता है |  वहीँ  7 फरवरी को उत्तरी मध्यप्रदेश में भी तेज आंधी के साथ ओले गिर सकते हैं | इन राज्यों में गरज चमक के साथ पानी की बौछरे भी गिर सकती हैं |

मध्यप्रदेश में ग्वालियर, चम्बल एवं भोपाल संभागों के जिलों तथा रतलाम, नीमच एवं मदसौर जिलों में गरज चमक के साथ बौछरें एवं ओले गीर सकते हैं |

भारी बारिश की सम्भावना

6 से 7 फरवरी को  जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश में बहुत अधिक बारिश की चेतावनी जारी की गई है | इस तरह मौसम में आये बदलाव से गेंहू, मसूर, सरसों, मटर, चने की फसल को काफी नुकसान होने की संभावना है | लेकिन इन राज्यों से लगे कुछ राज्यों में हल्की बारिस से फसल को फायदा होगा |

यह भी पढ़ें   जानें पीएम-किसान योजना में राज्यवार अभी तक कितने किसानों को कितनी राशि दी गई

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here