आधार कार्ड सत्यापन करवाने के बाद ही मिलेगा किसानों को लोन

कृषि लोन वितरण हेतु आधार कार्ड सत्यापन

किसानों को हर वर्ष कृषि कार्यों अथवा कृषि सम्बंधित अन्य क्षेत्रों के लिए किसानों को ऋण की आवश्यकता होती ही है और हाल ही में किसान क्रेडिट कार्ड द्वारा दिए जाने वाला ऋण पशुपालन एवं मछलीपालन हेतु भी किसान ऋण लेते हैं | राजस्थान सहकारिता मंत्री श्री उदय लाल अंजना ने शुक्रवार को विधानसभा में बताया कि सरकार ने किसानों को आधार आधारित सत्यापन के बाद ऋण देने की व्यवस्था शुरू की है। उन्होंने बताया कि जिन किसानों का आधार द्वारा सत्यापन हो चुका है, उन सभी को ऋण उपलब्ध कराया जाएगा और किसी भी किसान को ऋण से वंचित नहीं रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि ऋण वितरण की प्रक्रिया जारी है और सरकार लगातार ऋण दे रही है। उन्होंने बताया कि पूर्ववर्ती सरकार ने ऋणमाफी योजना शुरू की उसमें काफी अनियमितता की शिकायतें मिली। इस कारण सरकार ने आधार आधारित सत्यापन शुरू किया है।

हर एक परिवार को मिलेगा आसानी से लोन

आधार कार्ड सत्यापन इसलिए जरुरत पड़ी ताकि सभी किसान परिवार को ऋण मिल सके इससे पहले जो ऋण माफी की गई थी उसमे बहुत अनियमितताएं थी | ऋण माफी के दौरान कई परिवारों को दस-दस लाख रुपए तक की छूट मिली तो कई परिवार बिल्कुल वंचित रह गए। जो परिवार दोहरा लाभ ले रहे हैं और उनके मामले में यह निर्णय लिया गया है। सरकार की प्राथमिकता महिलाओं को पहले ऋण देने की है।  ऋण वितरण की प्रक्रिया जारी है तथा आज तक 600 करोड़ का ऋण वितरित किया जा चुका है |

ऋण के साथ अन्य दी जाने वाली अन्य सुविधाएँ

- Advertisement -

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी अल्पकालीन कृषि ऋण नीति (केसीसी) मे 3 लाख रुपए तक के ऋण अनुदानित दर पर उपलब्ध करवाने का प्रावधान है। केन्द्रीय सहकारी बैंकों के माध्यम से ऋण लेने वाले किसान क्रेडिट कार्ड धारी किसानों के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना तथा दुर्घटना बीमा योजना क्रियान्वित की जा रही है। उक्त योजनाओं में फसल खराबा अथवा दुर्घटनावश मृत्यु होने पर बीमा कवर अनुसार राशि कृषक या नामिती के खाते में प्राप्त होती है।

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

- Advertisement -

Related Articles

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
यहाँ आपका नाम लिखें

Stay Connected

217,837FansLike
831FollowersFollow
54,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

ऐप खोलें