किसान ले सकते हैं नया लोन, फसल ऋण माफी योजना में नए दिशा निर्देश जारी

0
3060
views
new crop loan

फसल ऋण माफी योजना में नए दिशा निर्देश जारी

किसान कर्ज माफी की प्रक्रिया शुरू हुए लगभग 6 महिना बीत चूका है, इस दौरान कई किसानों के कर्ज माफ़ किये जा चुके है और बहुत से किसान के कर्ज माफ़ किया जाना बाकि है | लोकसभा चुनाव के कारण कर्ज माफी की प्रक्रिया में रुकावट आ गई थी जिससे कई किसानों के फसल ऋण माफ़ नहीं हो पाए हैं और नई फसल लगाने का समय आ गया है | ऐसे में किसान असमंजस में हैं की क्या वो नया लोन ले सकते हैं या नहीं क्या नया ऋण लेने पर उनकी कर्ज माफी की प्रक्रिया पर क्या असर पडेगा | इस असमंजस को दूर करते हुए मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने हर हाल में किसानों की कर्ज माफी करने का संकल्प दोहराया है। उन्होंने जय किसान फसल ऋण माफी योजना के दूसरे चरण को लागू करने के निर्देश दिये हैं।

लोन माफी को लेकर जारी किये गए दिशा निर्देश

जय किसान फसल ऋण माफी योजना में जिन किसानों की लोन माफी हो रही है वे कृषि संबंधी कार्यों के लिये जरूरत अनुसार नया लोन ले सकते हैं। नया लोन लेने की प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं किया गया है। पूर्व के वर्षो में अपनाई गई प्रक्रिया के अनुसार ही उन्हें लोन मिलेगा। नया लोन लेने से लोन माफी की राशि या उनकी पात्रता में कोई अंतर नहीं आयेगा। किसान अपने ऋण का नवीनीकरण भी करा सकते हैं।

यह भी पढ़ें   कर्जमाफ़ी को गलत ठहराने से पहले जानें क्या कहते हैं किसानों की आत्महत्या के आकड़ें

राज्य शासन ने स्पष्ट किया है कि बैंकों के नोड्यूज प्रमाण -पत्र और भूमि बंधक मुक्त कराये जाने के संबंध में कोई निर्देश नहीं दिये गये हैं। अपेक्स बैंक की ओर से भी ऐसे कोई निर्देश नहीं हैं। इस संबंध में जिला स्तर पर किसी प्रकार की भ्रम की स्थिति नहीं रहना चाहिए। बैंक अपने स्तर पर ऋण वितरण करें और कृषि आदान की व्यवस्था सुनिश्चित करें।

सरकार की ओर से यह भी स्पष्ट किया गया है कि ऐसे किसान, जिनके चालू ऋण खाते रुपये 50,000 से अधिक हैं तथा नान-परफार्मिंग असेट रुपये दो लाख से अधिक हैं और जय किसान फसल ऋण माफी योजना के प्रथम चरण में उनके प्रकरण स्वीकृत नहीं हुए हैं, के प्रकरणों की स्वीकृति की कार्यवाही तत्काल प्रारंभ करने के निर्देश दिए गए हैं।

किसान कर्ज माफी के लिए एक बार और अपील कर सकेगें

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here