अधिक बारिश से किसानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए एक हजार करोड़ रुपए जारी

8
15027
fasal nuksan ka muavja mp kab diya jayega

बारिश से किसानों को हुए नुकसान का मुआवजा

इस वर्ष 2019 में मानसून किसानों के लिए किसी आफत से कम नहीं था, कहीं अत्यधिक बारिश तो कहीं बहुत कम बारिश | अधिक बारिश एवं बाढ़ का प्रकोप मध्यप्रदेश के किसानों को सबसे अधिक झेलना पड़ा है | बारिश से किसानों की खरीफ फसलों को बहुत अधिक नुकसान हुआ है यहाँ तक की किसानों फसलें पूरी तरह से बर्बाद हो गई थी | किसानों को सरकार से मुआवजे की उम्मीद है परन्तु मानसून को गए हुए 2 माह से अधिक बीत जाने पर भी सभी किसानों को पूरी तरह से मदद नहीं पहुंची हैं | इसका कारण केंद्र सरकार द्वारा राहत के लिए जो राशि की मांग की गई थी उसका न दिया जाना बताया जा रहा है |

सभी प्रभावित किसानों को मुआवजा देने के लिए कितनी राशि की आवश्यकता

अति-वृष्टि और बाढ़ से सबसे ज्यादा नुकसान किसानों को हुआ है। केंद्र सरकार द्वारा भेजे गए सर्वे दल की रिपोर्ट के अनुसार लगभग 55 लाख किसानों की 60 लाख हेक्टेयर की फसलें खराब हुईं है । राज्य सरकार ने फसलों की क्षतिपूर्ति, जान-माल और अधोसंरचना के नुकसान की भरपाई के लिए केंद्र सरकार से 6621 करोड़ 28 लाख रूपये की सहायता देने की मांग की है, अति-वृष्टि से किसानों को हुए नुकसान की वजह से वे नगदी की समस्या का सामना कर रहे हैं। रबी सीजन की बुआई के लिए बीज एवं खाद के लिए उन्हें पैसों की जरूरत है। ऐसी स्थिति में शेष राहत राशि केन्द्र सरकार तत्काल जारी करे जिसे किसानों को वितरित किया जा सके। 

यह भी पढ़ें   पाली हाउस में यह कार्य करवाने के लिए भी दी जा रही है 50 प्रतिशत सब्सिडी

केंद्र सरकार ने जारी किये एक हजार करोड़ रुपये 

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने प्रदेश में विगत दिनों हुई अति-वृष्टि से हुए नुकसान के लिए केन्द्र सरकार द्वारा एक हजार करोड़ रुपए की राहत राशि दिए जाने पर आभार व्यक्त करते हुए कहा कि शेष 5621.28 करोड़ की राशि भी अविलम्ब जारी की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 55 लाख किसानों की 60 लाख हेक्टेयर फसल बर्बाद हो गई। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि वे तत्काल शेष राहत राशि जारी करें, जिससे किसानों को हुए नुकसान की भरपाई की जा सके।

उम्मीद है अभी  केंद्र सरकार के द्वारा जो राशि जारी की गई है वह जल्द ही किसानों को दी जाएगी इसके अतिरिक्त केंद्र सरकार द्वारा बची हुई राशि भी जल्द ही राज्य सरकार को दी जाएगी ताकि वह जल्द ही किसानों को नुकसान की भरपाई कर सके | 

8 COMMENTS

    • जी सरकार द्वारा सर्वे किया गया है यदि फसल नुकसान हुई है तो आपको मुआवजा दिया जायेगा |

    • आप किस राज्य से हैं ? फसल बीमा का सर्वे हुआ था या नहीं ?

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.