पशुओं का घर बैठे इलाज करने के लिए शुरू की जाएगी मोबाइल डिस्पेंसरी

2
4527
mobile dispensary for animal

पशुओं के इलाज के लिए मोबाईल डिस्पेंसरी की शुरुआत

किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार कृषि के अलावा पशुपालन को भी बढ़ावा दे रही है | किसानों के लिए राज्य तथा केंद्र सरकार कई योजनायें चला रही है | पशुपालकों के लिए सबसे बड़ा सवाल यह रहता है कि दुधारु पशुओं को बीमारी से कैसे बचाएं ? क्योंकि पशु को रोग होने पर गांव में वेटनरी पर डॉ. नहीं मिल पाता है जिससे पशुओं में गंभीर बीमारी हो सकती है और किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है |

इस बात को ध्यान में रखते हुए हरियाणा सरकार प्रदेश के पशुओं के इलाज के लिए मोबाईल डिस्पेंसरी की शुरुआत करने जा रही है | राज्य के मुख्य मंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि प्रदेश में बीमार पशुओं के उपचार के लिए पशुपालकों के घर–द्वार पर ही ईलाज के लिए पशु संजीवनी सेवा के नाम से मोबाईल डिस्पेंसरी शुरू की जाएगी और डेयरी फार्मिंग को एक बड़े व्यवसाय के रूप में स्थापित करने के लिए प्रति व्यक्ति दूध उपलब्धता की 1087 ग्राम मात्रा को बढ़ाकर देश में पहला स्थान हासिल करने के प्रयास किये जा रहे हैं |

यह भी पढ़ें   झींगा पालन किस प्रकार करें

मुख्यमंत्री करनाल में एनडीआरआई के मैदान में आयोजित 37वीं प्रदर्शनी के दुसरे दिन बतौर मुख्य अतिथि पशुपालकों को संबोधित करते हुए यह बात कही है | मुख्य मंत्री ने इस बात पर जोर दिया है कि आय दोगुनी करने के लिए हरियाणा सरकार कृषि और पशुपालन को बढ़ावा दे रही है | इससे देश व प्रदेश उन्नत होगा | ब्राजील जैसे देश हमारी ही गायों की नस्लों में सुधार करके 70 से 80 किलो प्रतिदिन दूध प्राप्त कर रहे हैं, परन्तु हम क्यों नहीं | 

200 रूपये में दिया जाएगा सीमन

हरियाणा में ब्राजील से लाई गई पशु गर्भधान की नई तकनीक सैक्स सोर्टिड सीमन से 80 से 90 प्रतिशत बछड़ीया पैदा होगी | प्रदेश में इसका सफल प्रयोग किया जा चूका है | इस सीमन कीमत पहले प्रदेश में 800 रूपये प्रति गर्भाधान थी, अब पशुपालकों के हित को देखते हुए इसकी कीमत 200 रूपये रखी गई है जो देश में सबसे कम है |

यह भी पढ़ें   मछली पालन हेतु इस वर्ष लगाए जाएंगे 2,000 प्रोजेक्ट एवं दी जाएगी 5,000 युवाओं को ट्रेनिंग

पशुपालक क्रेडिट कार्ड बनाये जा रहे हैं

किसानों एवं पशुपालकों के कल्याण के लिए किसान क्रेडिट कार्ड की तर्ज पर पशुपालक क्रेडिट कार्ड बनाये जा रहे हैं | इस कार्ड से पशुपालक चार प्रतिशत ब्याज पर 3 लाख रूपये तक की पूंजी का ऋण ले सकता है |

इस वर्ष 10 लाख पशुओं का बीमा किया जाएगा

पशु बीमा योजना के अंतर्गत अभी तक 2 लाख 48 हजार पशुओं का बीमा किया जा चूका है जो एक रिकार्ड है | राज्य में सभी पशुओं का बीमा करने का लक्ष्य है | अगले वर्ष करीब 10 लाख पशुओं का बीमा करने का लक्ष्य रखा गया है | इससे किसान का जोखिम कम होगा और किसी पशु की मृत्यु होने पर वह बीमा राशि से दोबारा पशु खरीद सकेगा | इससे पशुपालकों का व्यवसाय बना रहेगा |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here