मध्यप्रदेश में इन 80 लाख किसान परिवारों को दी जाएगी किसान सम्मान निधि की राशि

4
5219
kisan samman nidhi yojna MP

किसान सम्मान निधि योजना किश्त मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसी किसानों को अभी तक कोई 2000 रुपये की कोई किश्त नहीं दी गई है वहीँ कई राज्यों के किसान अभी तक 2 किश्त ले चुके हैं | मध्यप्रदेश के किसान समझ नहीं पा रहे हैं क्या कारण है जिससे अभी तक किसानों को को राशि नहीं दी गई है ? मध्यप्रदेश सरकार के किसानों को योजना का लाभ कब तक मिलेगा और उनके बैंक खतों में पहली और दूसरी किश्त कब तक आएगी ? इस योजना की प्रगति की जानकारी सरकार ने सामने रखी | प्रदेश सरकार ने कहा है के 80 लाख पात्र किसान परिवार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से लाभान्वित होंगे। योजना में पात्र किसान परिवार के खाते में तीन किश्त में 2-2 हजार रूपये के मान से कुल 6 हजार रूपये प्रतिवर्ष सीधे जमा किये जायेंगे। योजना में पात्र कृषि भूमि धारक परिवारों को चिन्हित करने का कार्य जारी है।

यह भी पढ़ें   ग्वार किसानों की गिरती आय को लेकर मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार को लिखा पत्र

किसान किसान सम्मान निधि योजना सूचि में नाम किस तरह दर्ज करवाएं

योजना के सुचारू क्रियान्वयन के लिए पटवारियों को अधिकृत किया गया है। पटवारियों को 18 रूपये प्रति भू-धारक परिवार के मान से राशि उपलब्ध कराई जा रही है। पटवारियों द्वारा कृषक परिवारों की सूची तैयार कर ग्राम सभा के समक्ष रखी जायेगी। ग्राम सभा के अनुमोदन के बाद कृषक परिवार को योजना का लाभ दिया जायेगा ।

जिन परिवार का नाम सूची में शामिल नहीं हो सका है, वे पटवारी/ग्राम सभा/तहसीलदार के समक्ष अपना आवेदन प्रस्तुत कर सकेंगे। आयकर दाताओं/आर्थिक रूप से सम्पन्न किसान परिवारों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। पात्र किसान परिवारों को चिन्हित करने का लक्ष्य 20 जुलाई 2019 तक पूरा कर लिया जाएगा।

पीएम-किसान सम्मान निधि योजना पंजीकरण मध्यप्रदेश 

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

4 COMMENTS

  1. Jin kisano ka nam pm Kisan yojna me augst me aaya hai unki pahle ki kist rasi ka kya hoga lips ho jayegi ya adhikariyo me bant jayegi please bataye

    • उन्हें अभी नहीं दिए जाएंगे | उन्हें बाद में जब सभी किसानों को दिए जाएंगे तब मिलेगें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here