15 फरवरी तक 16 लाख किसानों, पशु एवं मछली पालकों को दिया जायेगा किसान क्रेडिट कार्ड

किसान क्रेडिट कार्ड अभियान

किसानों को आसानी से कम ब्याज दरों पर बैंक से ऋण उपलब्ध हो सके इसके लिए केंद्र सरकार के द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड kcc योजना चलाई जा रही है | जिसके तहत किसानों को कृषि कार्यों के लिए लोन दिया जाता है | वर्ष 2019 से किसान क्रेडिट कार्ड को पशुपालन तथा मत्स्य पालन से जोड़ दिया गया है, अब किसान डेयरी, पशु एवं मछली पालन के लिए भी किसान क्रेडिट कार्ड पर लोन ले सकते हैं |

अधिक से अधिक मछली पालकों एवं पशुपालकों को किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ मिल सके इसके लिए केंद्र सरकार ने “राष्ट्रव्यापी एएचडीएफ केसीसी अभियान” की शुरुआत कर दी है | अभियान के तहत मध्यप्रदेश राज्य में 16 लाख किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए जाएंगे | मध्य प्रदेश सरकार आगामी 3 माह का विशेष अभियान चलाकर ज्यादा से ज्यादा डेयरी, पशु एवं मछली पालकों को किसान क्रेडिट कार्ड देगी |

16 किसानों को दिया जायेगा किसान क्रेडिट कार्ड

- Advertisement -

केन्द्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय द्वारा 15 नवम्बर 2021 से 15 फरवरी 2022 तक “नेशनवाइड एनिमल हस्बेंडरी डेयरी एवं फिशरीज़ केसीसी केम्पैन” चलाया जा रहा है। जिसके तहत मध्यप्रदेश सरकार ने भी केसीसी अभियान शुरू किया है। इसमें पशुपालन गतिविधियों के लिये प्रदेश के 16 लाख किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिये सभी संभागायुक्त और कलेक्टर्स को दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं।

इन्हें दिया जायेगा केसीसी

केसीसी अभियान के तहत प्रदेश के सभी पात्र पशुपालकों और दुग्ध उत्पादक संगठनों को किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे | अपर मुख सचिव पशुपालन एवं डेयरी विभाग श्री जे.एन. कंसोटिया के द्वारा प्रत्येक शुक्रवार को शिविर आयोजित कर जाँच–परख कर आवेदन स्वीकार करने के निर्देश दिये गये हैं |

15 दिनों में किसानों को मिलेगा किसान क्रेडिट कार्ड

- Advertisement -

राज्य में अभियान के तहत जिला स्तर पर किसान क्रेडिट कार्ड अभियान के लिये केसीसी समन्वय समिति गठित की जा रही है। सहकारी दुग्ध संघ के अधिकारी/कर्मचारी, उप संचालक से समन्वय स्थापित कर दुग्ध सहकारी समितियों से संबंधित पशुपालकों के आवेदन शिविर में प्रस्तुत करेंगे। वहीं दुग्ध संघ से इतर अन्य पशुपालकों के आवेदन उप संचालक पशुपालन एवं डेयरी द्वारा प्रस्तुत किए जाएंगे । प्राप्त आवेदन का चेकलिस्ट अनुसार मिलान कर पूर्ण पाए जाने पर आवेदक को पावती दी जाएगी। वहीं कमी रहने पर आवेदक को लिखित में अवगत कराया जाएगा। सही आवेदनों का निराकरण 15 दिनों के अंदर हो जायेगा |

किसान क्रेडिट कार्ड पर दिया जाने वाला लोन एवं ब्याज दर

किसान क्रेडिट कार्ड धारकों को 4 प्रतिशत की ब्याज दर पर 3 लाख की ऋण सीमा के तहत पशुपालन तथा मत्‍स्‍य पालन गतिविधियों के लिए एक वर्ष तक के लिए ऋण दिया जाता है | किसान एक वर्ष से अधिक समय के बाद लोन जमा करता है तो उसे 7 प्रतिशत का ब्याज देना होगा | किसान क्रेडिट कार्ड धारक 1.6 लाख रुपये तक का लोन बिना किसी गारंटी के ले सकते हैं | इससे अधिक ऋण लेने के लिए संपार्श्विक या कोलैटरल की आवश्यकता होगी | यहाँ पर यह ध्यान रखना होगा कि 3 लाख रूपये से ज्यादा का लोन 9 प्रतिशत के ब्याज पर दिया जाएगा |

- Advertisement -

Related Articles

6 COMMENTS

    • सर आप इसके लिए सबसे पहले प्रोजेक्ट बनाएं | प्रोजेक्ट में आप कहाँ एवं किस स्तर का फार्म खोलना चाहते हैं एवं उसमें कितनी लागत आएगी एवं कितनी आय होने की सम्भावना है इसकी विस्तृत जानकारी दें | इसके बाद आप सब्सिडी के लिए अपने यहाँ के सरकारी पशु चिकित्सालय या जिला पशु पालन विभाग में सम्पर्क कर सब्सिडी के लिए आवेदन करें | प्रोजेक्ट अप्रूव हो जाने पर आप बैंक से लोन हेतु आवेदन कर सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
यहाँ आपका नाम लिखें

Stay Connected

217,837FansLike
831FollowersFollow
54,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

ऐप खोलें