सोमवार, मार्च 4, 2024
होमकिसान समाचारइन आठ जिलों के किसानों को जल्द दिया जायेगा फसल नुकसानी का...

इन आठ जिलों के किसानों को जल्द दिया जायेगा फसल नुकसानी का मुआवजा

फसल नुकसानी का मुआवजा

पिछले वर्ष असमय बारिश एवं ओलावृष्टि के चलते किसानों कि रबी सीजन की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा था परन्तु सभी किसानों को अभी तक फसल नुकसानी का मुआवजा नहीं मिल पाया है | प्राकृतिक आपदा से फसलों को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए देश भर में (कुछ राज्यों को छोड़कर) प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना चलाई जा रही है | योजना के तहत राजस्थान के जिन किसानों को प्राकृतिक आपदा के चलते फसल खराबे का सामना करना पड़ा था उन्हें अब जल्द ही मुआवजा दिया जायेगा |

किसानों को रबी 2019-20 में हुए फसल नुकसानी का मुआवजा

राजस्थान राज्य के चूरू सहित आठ जिलों के किसानों को रबी 2019-20 में हुए फसल नुकसानी का प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत मुआवजा जल्द ही दिया जाएगा | मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री गहलोत ने बुधवार को राज्य विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए थे कि जिन आठ जिलों का रबी 2019-20 का क्लेम भुगतान बकाया है, उनका शीघ्र भुगतान किया जाए।

यह भी पढ़ें   सरकारी योजनाओं का लाभ लेना है तो किसानों को 10 अगस्त तक यहाँ करवाना होगा अपना पंजीयन

इन 8 जिलों के किसानों को किया जायेगा भुगतान

राज्य सरकार ने चुरू सहित अजमेर, भरतपुर, बूंदी, झालावाड़, कोटा, पाली एवं सवाईमाधोपुर जिलों के रबी 2019-20 के राज्यांश प्रीमियम की 70 करोड़ रूपये की राशि भी बीमा कम्पनियों को जमा करा दी है। इन जिलों के किसानों का बकाया बीमा क्लेम का भुगतान जल्द ही किया जायेगा |

उल्लेखनीय है कि कोरोना लॉकडाउन अवधि में कृषि एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा चूरू जिले में किए गए फसल खराबे के आकलन पर बीमा कम्पनी ने असहमति व्यक्त करते हुए भारत सरकार के समक्ष अपील कर दी थी। इसके चलते किसानों के क्लेम का भुगतान नहीं हो पा रहा था। भारत सरकार ने राज्य सरकार द्वारा प्रस्तुत साक्ष्यों के आधार पर बीमा कम्पनी की अपील को 3 फरवरी 2021 को खारिज कर दिया। अब चूरू जिले की 1 लाख 30 हजार बीमा पॉलिसियों के विरूद्ध पात्र किसानों को 550 करोड़ रूपये के क्लेम का भुगतान किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   किसानों को अब हर साल 6 नहीं बल्कि मिलेंगे 12 हजार रुपए

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

Trending Now

डाउनलोड एप