अवधिपार ऋणी किसान भी ले सकेगें शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर फसली लोन

0
13849
crop loan at zero percent interest

शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर फसली लोन

कृषि क्षेत्र में अधिक उत्पादकता और कुल उत्पादन के लक्ष्य तक पहुंचने में ऋण सुविधा एक महत्वपूर्ण घटक है। सरकार किसानों को कम ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध करवाने के लिए ब्याज पर सब्सिडी दी जाती है | इसके लिए किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड पर अधिकतम 3 लाख रुपये का रियायती फसल ऋण 7 प्रतिशत ब्याज पर उपलब्ध कराया जाता है। इसमें 3% अतिरिक्त अनुदान का प्रावधान भी है। वही कुछ राज्यों जैसे मध्यप्रदेश, राजस्थान में किसानों को सहकारी बैंकों से अल्पकालिक फसली ऋण शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध करवाया जाता है | राजस्थान सरकार ने कोरोना संकट को देखते हुए अवधिपार किसानों को भी शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर फसली ऋण देने का फैसला लिया है |

अब यह किसान भी ले सकेंगे शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर लोन

राजस्थान के सहकारिता मंत्री श्री उदयलाल आंजना ने बताया कि ऎसे सभी किसान जो ऋण माफी में अपात्र थे और उन्होंने समय पर अपना फसली ऋण चुका दिया था। उन्हें अब भी फसली ऋण दिया जा रहा है। लेकिन कई किसान ऎसे थे जो ऋण माफी में अपात्र थे तथा उन्होंने अपना फसली ऋण देरी से चुकाया था वे अवधिपार श्रेणी में आए थे। ऎसे किसानों को भी अब फसली ऋण मिल सकेगा। जिन किसानों ने अभी तक अपना फसली ऋण नही चुकाया है तथा जो अवधिपार हो चुके है वह किसान भी ऋण ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें   यह राज्य सरकार किसानों से खरीदेगी 80 लाख मीट्रिक टन चना, मसूर एवं सरसों

ऐसे किसान अब अवधिपार मूल राशि एवं ब्याज चुकाकर पात्रता की स्थिति में मूल राशि के बराबर पुनः फसली ऋण ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि ऐसे किसानों के हित में राज्य सरकार के शून्य प्रतिशत ब्याज पर फसली ऋण का लाभ देने के उदेद्श्य से यह निर्णय लिया गया है। इस निर्णय से फसली ऋण से जुड़े करीब 3.50 लाख अवधिपार ऋणी किसानों को भी फसली ऋण प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऋण माफी के अपात्र इन किसानों को भी अब शून्य प्रतिशत ब्याज पर फसली ऋण मिल सकेगा।

खरीफ सीजन में 23 लाख से अधिक किसानों ने लिया शून्य प्रतिशत ब्याज पर फसली ऋण

सहकारिता मंत्री ने बताया कि 16 अप्रेल से प्रारम्भ हुए खरीफ सीजन के फसली ऋण में अब तक 23 लाख 79 हजार किसानों को 7 हजार 321 करोड़ रुपये का फसली ऋण का वितरण किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष लगभग 3 लाख नए किसानों को भी फसली ऋण दिया जा रहा है। खरीफ सीजन में फसली ऋण 31 अगस्त तक वितरित होगा।

यह भी पढ़ें   कृषि उपज सम्बंधित बिलों के विरोध में किसानों का भारत बंद

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.