खेती के समय घायल या मौत होने पर किसानों को दिया जाएगा इतना मुआवजा

2
3399
views
kisan durghatna hone par muabja

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना का दायरा बढाया गया

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना 2009 का दायरा बढ़ाया गया है | इससे इस योजना में खेत पर काम करते समय अन्य कई परस्थितियों में दुर्घटना होने पर भी पीड़ित किसान तथा खेतीहर मजदूर को योजना का लाभ दिया जायेगा | यह योजना किसानों के साथ ही खेतिहर मजदूरों के लिए है |  अब इस योजना के तहत बिजली के करंट से मौत, सिंचाई के समय मौत या घायल होने पर बुवाई अथवा काटाई के समय कृषि यंत्र से हुई दुर्घटना, जंगली तथा पालतू जानवरों से दुर्घटना पर किसानों को योजना का लाभ दिया जायेगा | किसान समाधान इस योजना के तहत शामिल किये गए बिन्दुओं को विस्तार से लेकर आया है |

जानवर एवं कीट के काटने पर भी दिया जायेगा लाभ

खेती करते समय जंगली जानवर (सूअर, नीलगाय, भालू, बाघ, मधुमक्खी, बिच्छु, सांप , गोह) या पालतू जानवरों (कुत्ता, बैल, गाय इत्यादि) के मारने तथा काटने पर घायल होने या मृत्यु होने पर भी किसानों को योजना का लाभ दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   आज इन 65 तहसीलों के किसानों को दी जाएगी कर्ज माफी की राशि

आपदा में मृत्यु तथा घायल होने पर भी योजना का लाभ दिया जाएगा

अधिक वर्षा के कारण बहाव, चक्रवाती तूफान, बाढ़, पेड़ के नीचे दबने , बिजली गिरने से मृत्यु के साथ – साथ खेत के समतली करण, झाड़ी की कटाई, झड – झंखाड़ के समय घायल या म्रत्यु पर योजना का लाभ दिया जायेगा |

सिंचाई के समय दुर्घटना को भी शामिल किए गया है 

सिंचाई के समय अथवा कृषि से संबंधित किसी सनी कार्य करते समय, खेत में निर्मित तलाब ,टैंक ,कुएं तथा जल भराव में गिरने से मौत या घायल होने पर योजना का लाभ दिया जायेगा | 

पहले केवल इन दुर्घनाओं में मुआवजा मिलता था ?

वर्ष 2009 से राजस्थान में यह योजना लागु है और योजना के तहत ट्रेक्टर, बैलगाड़ी अथवा ऊंटगाडी से घर से खेत आटे – जाते समय दुर्घटना में मृत्यु अथवा घयल होने पर मुवाब्जा दिया जाता था | अब इस में मोटरसाइकिल अथवा किसी और वहां से खेत से घर आटे – जाते समय दुर्घटना पर मुवाब्जा दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   सरकार किसानों को नलकूप की स्थापना के लिए दे रही है 1.78 लाख रुपये तक, अभी आवेदन करें

किसान को कितना मुआबजा दिया जाता है ?

खेत में काम करते समय किसानों को कि बार गंभीर परिश्तितियों में काम करना पढता है | पहले किसानों को को म्रत्यु होने पर 6 लाख तक का मुआबजा दिया जाता था जिसे बढाकर 10 लाख तक कर दिया गया है |

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here