back to top
28.6 C
Bhopal
सोमवार, जून 24, 2024
होमकिसान समाचारएक बार फिर फसलों पर टिड्डी कीट का हमला, नियंत्रण के...

एक बार फिर फसलों पर टिड्डी कीट का हमला, नियंत्रण के लिए 45 गाड़ियाँ एवं 600 ट्रेक्टर करेगें काम

टिड्डी कीट का बढ़ता प्रकोप

सर्दी के मौसम में टिड्डी कीट ने रबी के फसलों को काफी नुकसान पहुँचाया था , जिससे गुजरात, राजस्थान, हरियाणा, तथा पंजाब में किसानों कि फसलों को काफी नुकसान हुआ था | पहले ऐसा मानना था की गर्मी बढने पर टिड्डी का प्रकोप खत्म हो जाएगा लेकिन गर्मी के मौसम में भी टिड्डी का प्रकोप बढ़ते जा रहा है | टिड्डी का उद्गम स्थल ईरान, अफगानिस्तान, पाकिस्तान होने के कारण पश्चिमी राज्यों में टिड्डी कीट का प्रकोप सर्वाधिक होता है खासकर पाकिस्तान से लगे जिलों में |

राजस्थान सरकार टिड्डी नियंत्रण के लिए टिड्डी चेतावनी संगठन के साथ मिलकर काम कर रही है | इस कीट को नियंत्रण के लिए बड़े स्तर पर तैयारियां की जा रही है | साथ में 138 सर्वे टीम तैयार की गई है | सभी टीमों को पर्याप्त मात्र में पेस्टिसाइडस , वाहन तथा अन्य संसाधन उपलब्ध करवाए जा रहे हैं | राजस्थान के कृषि मंत्री श्री लालचंद कटारियां ने कृषि विभाग के अधिकारीयों को निर्देश दिया है कि टिड्डी चेतावनी संगठन तथा किसानों के साथ मिलकर काम करें |

यह भी पढ़ें   मौसम चेतावनी: 13 से 14 मई के दौरान इन जिलों में हो सकती है बारिश एवं ओलावृष्टि

टिड्डी नियंत्रण के लिए 45 गाड़ियाँ तथा 600 ट्रेक्टर किराये पर

वर्ष 2019 के रबी फसल में टिड्डी से व्यापक नुकसानी को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार ने टिड्डी चेतावनी संगठन को संसाधन उपलब्ध करवा रही है | राज्य सरकार ने टिड्डी चेतावनी संगठन को 40 गाड़ियाँ उपलब्ध कराई है | इसके साथ 600 ट्रेक्टर अतरिक्त किराये पर लेने कि स्वीकृति जारी कि गई है |

टिड्डी नियंत्रण के लिए पर्याप्त मात्रा में पेस्टिसाइडस उपलब्ध है , जहाँ भी पेस्टिसाइडस कि जरूरत हो वहां तुरंत बताने को कहा गया है | वाहन, पेस्टिसाइडस एवं अन्य संसाधनों के अभाव में कहीं भी टिड्डी अनियंत्रित नहीं होने का निर्देश दिया गया है |

प्रभावित क्षेत्र में 138 सर्वे टीम कर रही काम

राजस्थान के कृषि आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश ने बताया कि राज्य के गंगवार, बाड़मेर, जोधपुर, नागौर एवं अजमेर जिले टिड्डी से प्रभावित है | विभागीय टीमें पूर्ण सजगता के साथ सर्वे कर प्रभावी टिड्डी नियंत्रण कर रही है | प्रभावित क्षेत्र में 138 सर्वे टीम लगी हुआ है | टिड्डी चेतावनी संगठन कि ओर से 45 गाड़ियों के माध्यम से कीटनाशक स्प्रे का कार्य किया जा रहा है |

यह भी पढ़ें   मौसम चेतावनी: 22 से 23 अप्रैल के दौरान इन जिलों में हो सकती है बारिश एवं ओलावृष्टि

केंद्र सरकार से हवाई स्प्रे के लिए ड्रोन उपलब्ध करवाने का आग्रह

कृषि आयुक्त ने बताया की मुख्य सचिव श्री डीबी गुप्ता ने केन्द्रीय कृषि सचिव को पत्र लिखकर सर्वे एवं कीटनाशक छिडकाव के लिए अतिरिक्त वहन, हवाई स्प्रे के लिए ड्रोन तथा अन्य आवश्यक संसाधन उपलब्ध करने का आग्रह किया है | मुख्य सचिव की ओर से सभी प्रभावित जिलों के कलक्टर को भी प्रभावी टिड्डी नियंत्रण के लिए पत्र लिखा जा रहा है |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर