जानिए किसान कब और कैसे मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली समर्थन मूल्य MSP पर बेचने के लिए करवा सकेगें पंजीयन

0
786
msp procurment of moong soya bean moongfali urad

समर्थन मूल्य MSP पर मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली बेचने हेतु पंजीकरण

कई राज्यों में समर्थन मूल्य पर धान एवं अन्य खरीफ फसलों की खरीदी शुरू हो चुकी है वहीँ कई राज्यों में अभी पंजीकरण का कार्य चल रहा है | किसानों को अपनी उपज समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए पंजीकरण करवाना होता है | बिना पंजीकरण के उनकी फसल मंडी में समर्थन मूल्य पर खरीदी नहीं जाती है | राजस्थान राज्य में समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली की खरीद के लिये ऑनलाइन पंजीकरण मंगलवार, 20 अक्टूबर से शुरू किये जा रहे हैं ।

इस वर्ष राजस्थान में केन्द्र सरकार ने मूंग की 3.57 लाख मीट्रिक टन, उडद 71.55 हजार, सोयाबीन 2.92 लाख तथा मूंगफली 3.74 लाख मीट्रिक टन की खरीद के लक्ष्य की स्वीकृति भारत सरकार ने दी है। पंजीकरण के अभाव में किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीद संभव नहीं होगी।

किसान खरीद केन्द्रों पर कब से बेच सकगें उपज

राजस्थान में किसान 850 से अधिक खरीदी केंद्र स्थापित किए गए हैं | इन केन्द्रों पर मूंग, उड़द एवं सोयाबीन की 1 नवम्बर से तथा 18 नवम्बर से मूंगफली पर बेच सकेगें | मूंग के लिए 365, उड़द के लिए 161, मूंगफली के 266 एवं सोयबीन के लिए 79 खरीद केन्द्र बनाये जा रहे हैं जो की पिछले वर्ष की तुलना में संख्या में 500 अधिक हैं | पंजीकृत किसान इन खरीद केन्द्रों पर अपनी उपज को लाकर बेच सकते हैं |

यह भी पढ़ें   समर्थन मूल्य पर सोयाबीन एवं मूंगफली बेचने के लिए ऑनलाईन पंजीयन

किसान कब और कैसे करवाएं पंजीकरण

हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी किसानों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो इसके लिए ऑनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था ई-मित्र केंद्र एवं खरीद केन्द्रों पर प्रातः 9 बजे से सायं 7 बजे तक की गई है। इच्छुक किसान ई-मित्र केंद्र पर 20 अक्टूबर से अपनी उपज बेचने के लिए पण पंजीकरण करवा सकते हैं | किसान एक जनआधार कार्ड में अंकित नाम में से जिसके नाम गिरदावरी होगी उसके नाम से एक पंजीयन करवा सकेगें । किसान इस बात का विशेष ध्यान रखे कि जिस तहसील में कृषि भूमि है उसी तहसील के कार्यक्षेत्र वाले खरीद केन्द्र पर उपज बेचान हेतु पंजीकरण करावें। दूसरी तहसील में यदि पंजीकरण कराया जाता है तो पंजीकरण मान्य नही होगा ।

किसान पंजीयन कराते समय यह सुनिश्चित कर ले कि पंजीकृत मोबाईल नम्बर, से जनआधार कार्ड से लिंक हो जिससे समय पर तुलाई दिनांक की सूचना मिल सके। किसान प्रचलित बैंक खाता संख्या सही दे ताकि ऑनलाइन भुगतान के समय किसी प्रकार की परेशानी किसान को नहीं हो।

पंजीकरण हेतु आवश्यक दस्तावेज

किसान को पंजीकरण केंद्र पर अपने साथ यह दस्तावेज ले जाने होंगे-

  • जनआधार कार्ड नम्बर,
  • खसरा नम्बर,
  • गिरदावरी की प्रति,
  • बैंक पासबुक की प्रति
यह भी पढ़ें   फसल में रोग या कीट लगने पर इस नंबर पर SMS (एस.एम.एस) करें

किसानों को यह दस्तावेज पंजीकरण फार्म के साथ अपलोड़ करने होगें | जिस किसान द्वारा बिना गिरदावरी के अपना पंजीयन करवाया जायेगा, उसका पंजीयन समर्थन मूल्य पर खरीद के लिये मान्य नहीं होगा। यदि ई-मित्र द्वारा गलत पंजीयन किये जाते हैं या तहसील के बाहर पंजीकरण किये जाते है तो ऐसे ई-मित्रों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

वर्ष 2020-21 मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली का समर्थन मूल्य

  • उड़द का समर्थन मूल्य 6000 रुपये प्रति क्विंटल
  • मूंग का समर्थन मूल्य 7196 रुपये प्रति क्विंटल
  • मूंगफली का समर्थन मूल्य 5275 रुपये प्रति क्विंटल
  • सोयाबीन का समर्थन मूल्य 3880 रुपये प्रति क्विंटल

समर्थन मूल्य पर पंजीकरण हेतु समस्या समाधान हेतु टोल फ्री नम्बर

किसानों की समस्या के समाधान हेतु राजफैड स्तर पर ट्रोल फ्री हेल्पलाईन नंबर 1800-180-6001 पर प्रात: 9 से 7 बजे तक किसान अपनी समस्याओं को हेल्पलाईन नंबर पर दर्ज करा सकते हैं | यह टोल फ्री नम्बर 20 अक्टूबर से कार्य करना प्रारंभ कर देगा | अथवा अपनी शिकायत/समस्या को लिखित में राजफैड मुख्यालय में स्थापित काल सेंटर पर [email protected] पर मेल भेज सकते हैं |

मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए पंजीकरण हेतु क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here