back to top
शनिवार, जून 15, 2024
होमकिसान समाचारकिसानों को 3 अप्रैल से मशरूम उत्पादन तकनीक पर दिया जाएगा...

किसानों को 3 अप्रैल से मशरूम उत्पादन तकनीक पर दिया जाएगा प्रशिक्षण, यहाँ कराना होगा पंजीयन

मशरूम एक ऐसी फसल है जिसकी खेती बहुत ही कम क्षेत्र करके किसान अधिक मुनाफा कमा सकते हैं। मशरूम में पोषक तत्वों की भरमार होती है इस वजह से देश में इसकी माँग अधिक रहती है। ऐसे में मशरूम उत्पादन से किसान अधिक से अधिक आमदनी कम सकें इसके लिए कृषि विश्वविद्यालयों एवं कृषि विज्ञान केंद्रों के द्वारा समय-समय पर किसानों एवं युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाता है।

इस क्रम में चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के सायना नेहवाल कृषि प्रौद्योगिकी, प्रशिक्षण एवं शिक्षा संस्थान की ओर से मशरूम उत्पादन तकनीक विषय पर 3 से 5 अप्रैल तक तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रशिक्षण में देश एवं प्रदेश से किसी भी वर्ग, आयु के इच्छुक महिला व पुरुष भाग ले सकेंगे।

मशरूम प्रशिक्षण में दी जाएगी यह जानकरियाँ

3 अप्रैल से शुरू होने वाले प्रशिक्षण शिविर में किसानों को मशरूम उत्पादन की विभिन्न तकनीकों की जानकारी दी जाएगी। सायना नेहवाल कृषि प्रौद्योगिकी, प्रशिक्षण एवं शिक्षा संस्थान के सह-निदेशक (प्रशिक्षण) डॉ. अशोक गोदारा ने बताया कि इस प्रशिक्षण में सफेद बटन मशरूम, ऑयस्टर मशरूम, दूधिया मशरूम, शिटाके मशरूम, कीड़ाजड़ी मशरूम इत्यादि पर संपूर्ण जानकारी दी जाएगी।

यह भी पढ़ें   किसान इस तरह ले सकते हैं पेड़ी गन्ने की अधिक पैदावार

इसके अलावा मशरूम के मूल्य संवर्धित उत्पाद तैयार करना, मार्केटिंग एवं लाइसेंसिंग, मशरूम उत्पादन में मशीनीकरण, मशरूम स्पान बीज तैयार करना, मौसमी और वातानुकूलित नियंत्रण में विभिन्न मशरूम को उगाने, मशरूम की जैविक और अजैविक समस्याएँ और उसके निदान पर विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

मशरूम उत्पादन की ट्रेनिंग के लिए आवेदन कहाँ करें?

विश्वविद्यालय की ओर से यह प्रशिक्षण किसानों ओर युवाओं को निःशुल्क दिया जाएगा। इसके लिए प्रतिभागियों को संस्थान से प्रमाण पत्र भी दिये जाएँगे। इच्छुक युवक व युवतियाँ पंजीकरण के लिए सायना नेहवाल कृषि प्रौद्योगिकी, प्रशिक्षण एवं शिक्षा संस्थान में 3 अप्रैल को ही सुबह 9 बजे आकर अपना पंजीकरण करवाकर प्रशिक्षण में भाग ले सकते हैं।

यह संस्थान विश्वविद्यालय के गेट नंबर -3, लुदास रोड पर स्थित है। प्रशिक्षण में प्रवेश पहले आओ पहले पाओ के आधार पर दिया जाएगा। पंजीकरण के लिए उम्मीदवारों को एक फोटो व आधार कार्ड की फोटो कॉपी अपने साथ लेकर जाना होगा।

यह भी पढ़ें   सब्सिडी पर ड्रोन खरीदने के लिये आवेदन करें

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर