गुरूवार, दिसम्बर 7, 2023
होमकिसान समाचारकिसान जल्द कर लें यह काम, नहीं तो 24 घंटे में निरस्त...

किसान जल्द कर लें यह काम, नहीं तो 24 घंटे में निरस्त हो जाएगी गन्ना पर्ची

मोबाइल पर गन्ना पर्ची का SMS पाने के लिए करें यह काम

गन्ना पेराई सीजन 2023-24 की शुरुआत हो चुकी है, ऐसे में किसान समय पर चीनी मिलों को गन्ना आपूर्ति कर सकें इसके लिए पंजीकृत किसानों को गन्ना पर्ची SMS के माध्यम से भेजी जाने लगी है। परंतु ऐसे में अभी भी कई किसान हैं जिन्हें समय पर गन्ना पर्ची नहीं मिल पा रही है। जिसको देखते हुए उत्तर प्रदेश के गन्ना आयुक्त ने किसानों से अपील की है कि किसान अपने मोबाइल का इनबॉक्स ख़ाली रखें साथ ही अपने मोबाइल को हमेशा चालू रखें।

उत्तर प्रदेश के आयुक्त, गन्ना एवं चीनी, प्रभु एन. सिंह ने बताया कि पेराई सत्र 2023-24 में प्रदेश के गन्ना किसानों को गन्ना पर्चियाँ केवल एस.एम.एस. पर्ची के रूप में उनके मोबाइल फोन पर प्रेषित की जा रही है। इसलिए यह आवश्यक है कि ई.आर.पी. पर गन्ना किसानों का सही मोबाइल नंबर पंजीकृत हो। इसके लिए उन्होंने गन्ना किसानों से अपील की है कि वे ERP पर पंजीकृत अपने मोबाइल नंबर की जाँच कर लें, यदि नंबर ग़लत है तो अपने गन्ना पर्यवेक्षक के माध्यम से अथवा Eganna एप पर स्वयं अपना सही मोबाइल नंबर अपडेट कर लें।

यह भी पढ़ें   प्राकृतिक खेती के लिए सरकार देसी गाय खरीदने के लिए दे रही है 25 हजार रुपए का अनुदान

इस कारण से किसान को नहीं मिल पा रही है गन्ना पर्ची

इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए श्री सिंह ने बताया कि विभाग द्वारा किसानों को गन्ना आपूर्ति हेतु उनके मोबाइल पर प्रेषित की जाने वाली लगभग 10 प्रतिशत SMS गन्ना पर्चियों की डिलीवरी प्रतिदिन फेल हो रही है, क्योंकि किसानों के ई.आर.पी. पर पंजीकृत मोबाइल नेटवर्क क्षेत्र में उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं या उनके मोबाइल का SMS इनबॉक्स भरा होने, मोबाइल स्विच ऑफ होने डीएनडी एक्टिवेट होने की स्थिति में SMS पर्ची का संदेश 24 घंटे के बाद स्वतः ही निरस्त हो जाता है। इस कारण पर्ची की जानकारी प्राप्त नहीं हो पाती है।

किसान गन्ना पर्ची के SMS के लिए क्या करें 

इस तकनीकी समस्या के निवारण के लिए अनिवार्य है कि सभी किसान भाई SMS पर्ची प्राप्त करने के लिए अपने मोबाइल को नेटवर्क क्षेत्र में रखें, अपने मोबाइल का SMS इनबॉक्स ख़ाली रखें तथा मोबाइल को चार्ज करके हमेशा चालू रखें। साथ ही यदि किसान ने DND सर्विस ऐक्टिवेट की हो तो उसे बंद करा दें ताकि सर्वर द्वारा भेजे गए SMS गन्ना पर्ची उनके मोबाइल पर उन्हें सही समय पर मिल सके।

यह भी पढ़ें   पशुओं के लिए शुरू किया गया पशु अस्पताल, 24 घंटे मिलेगी इलाज की सुविधा

पर्ची निर्गमन की यह व्यवस्था पूरी तरह पारदर्शी है। इस व्यवस्था में किसान के मोबाइल नंबर पर SMS पर्ची भेजे जाने से किसान को तुरंत पर्ची मिल जाने से ताजा गन्ना मिल को मिल सकेगा जिससे किसान गन्ने के सूखने वाली हानि से बच सकेंगे।

साथ ही गन्ना एवं चीनी आयुक्त ने अधिकारियों एवं जिला गन्ना अधिकारियों को भी निर्देशित किया है कि वह इसका व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करते हुए एक अभियान चलाकर सभी गन्ना किसानों को सही मोबाइल नंबर अपडेट कराना सुनिश्चित करें ताकि किसानों को गन्ना आपूर्ति में किसी तरह की कोई असुविधा न हो।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

Trending Now

किसान समाधान से यहाँ भी जुड़े

217,837फैंसलाइक करें
500फॉलोवरफॉलो करें
24फॉलोवरफॉलो करें
878फॉलोवरफॉलो करें
53,800सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
डाउनलोड एप