किसान सब्सिडी पर वाक इन टनल (बड़ी सुरंग) बनाकर खेती करने के लिए आवेदन करें

0
16527
walk in tunnel farming subsidy avedan

वाक इन टनल खेती हेतु आवेदन

जलवायु परिवर्तन का सबसे बुरा प्रभाव किसानों पर पड़ा है | आज के समय में अधिक बारिश, सुखा एवं बैमोसम बारिश ओलावृष्टि जैसे प्राकृतिक कारणों से किसानों की फसलों को सबसे अधिक नुकसान हो रहा है | इसके आलावा कीट एवं रोगों के प्रकोप के चलते भी फसलों की हानि हो  रही है जिससे किसानों का उत्पादन घट रहा है | इससे निपटने के लिए सरकार सरंक्षित खेती को बढ़ावा दे रही है |

सरंक्षित खेती करने के किसानों को बहुत से लाभ है जैसे की किसान वर्ष भर बाजार के अनुसार सब्जी एवं अन्य फसलें पैदा कर सकता है जिससे उसे अच्छी आमदनी प्राप्त होगी साथ ही जनसामान्य को फसल हानि कम होने के चलते उचित दामों पर सब्जियां मिल सकेंगी | किसानों को सरंक्षित खेती के लिए प्रोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा अनुदान भी दिया जाता है |

क्या है सरंक्षित खेती के लिए योजना

केंद्र सरकार द्व्रारा देश में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (RKVY) योजना चलाई जा रही है | जिसके बहुत से घटक हैं उनमें से एक घटक सरंक्षित खेती भी है जिसके तहत किसानों को सरंक्षित खेती करने के लिए सब्सिडी दी जाती है | इसका मुख्य उद्देश्य कृषकों को आर्थिक सहायता प्रदान कर ग्रीन हाउस / शेड नेट हाउस/प्लास्टिक टनल/ प्लास्टिक मल्चिंग आदि के लिए प्रोत्साहित करना है जिससे किसान नियंत्रित वातावरण में ताज़ी सब्जियों एवं पुष्प की खेती वर्ष भर बाजार में उपलब्धता बनायें रखें | यह योजना वैसे तो सभी राज्यों में उद्यानिकी विभाग के द्वारा चलाई जाती है परन्तु अभी मध्यप्रदेश सरकार के उद्यानिकी विभाग के द्वारा इस योजना के घटक वाक इन टनल (बड़ी सुरंग) के लिए आवेदन मांगे गए हैं |

यह भी पढ़ें   प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना राफेल हेलिकाप्टर से भी ज्यादा बड़ा घोटाला है: पी. साईनाथान

वाक इन टनल पर सब्सिडी

इस योजना के तहत किसानों को 50 प्रतिशत अनुदान किसानों को दिया जाता है | वाक इन टनल (बड़ी सुरंग) बनाकर खेती करने वाले इच्छुक किसानों को 4000 वर्ग मीटर तक के लिए 50 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा है |

वाक इन टनल अनुदान हेतु आवेदन

योजना
घटक
जिला
वर्ग

Promotion of plug type Seedling Production at Farmers Field (RKVY)

वाक इन टनल

धार, झाबुआ, रतलाम, मंदसौर, शाजापुर, छिंदवाडा,बड़वानी, देवास,दमोह

सामान्य

धार, रतलाम,शाजापुर, छिंदवाडा,देवास,दमोह

अनुसूचित जाती  

धार, झाबुआ, रतलाम, छिंदवाडा,बड़वानी

अनुसूचित जनजाती 

इच्छुक किसान 25 जनवरी 2020 को सुबह 11 बजे से ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे | आवेदन लक्ष्यों के संबंध में जिलो को आवंटित लक्ष्य से 10 प्रतिशत अधिक तक आवेदन किया जा सकेगा | इसके बाद आवेदन समाप्त कर दिए जाएंगे |

सब्सिडी प्राप्त करने हेतु आवेदन कहाँ करें

वाक इन टनल के लिए आवेदन उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग मध्यप्रदेश के द्वारा आमंत्रित किये गए हैं अत; किसान भाई यदि योजनाओं के विषय में अधिक जानकारी चाहते हैं तो उद्यानिकी एवं विभाग मध्यप्रदेश पर देख सकते हैं | मध्यप्रदेश में किसानों को आवेदन करने के लिए ऑनलाइन पंजीयन उद्यानिकी विभाग मध्यप्रदेश फार्मर्स सब्सिडी ट्रैकिंग सिस्टम पर जाकर कृषक पंजीयन कर सकते हैं | किसान कीओस्क पर जाकर अथवा एमपी ऑनलाइन पर जाकर पंजीयन करें जहाँ eKYC  (उंगलियों के निशान) सत्यापन कर सकें |

यह भी पढ़ें   खेत की मेड़ो पर पपीते की खेती कर 1 लाख रुपये की आय प्राप्त करें

किसान वाक इन टनल सब्सिडी हेतु पंजीकरण करने के लिए क्लिक करें 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here