फसल बीमा कंपनियां तहसील स्तर पर जारी करें टोल फ्री नम्बर: कृषि मंत्री

0
8672
fasal bima taaja samachar mp

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना टोल फ्री नम्बर

देश में किसानों को सबसे अधिक किसी योजना का लाभ लेने के लिए यदि समस्या का सामना करना पढता है तो वह है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में | किसानों की शिकायत हमेशा यही रहती है की उन्हें फसल बीमा की राशि नहीं मिलती, कंपनियों ने जो टोल फ्री नम्बर जारी किया है वह नम्बर पर कॉल करने पर कोई उठाता ही नहीं हैं | इसमें भी कई किसान अभी भी ऐसे हैं जिनका बीमा तो हो जाता है पर उन्हें फसल बीमा कम्पनी का नाम तक पता नहीं होता है | इन परिस्थिति में किसान कल्याण तथा कृषि विकास, उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण मंत्री श्री सचिन यादव ने मंत्रालय में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा की।

उन्होंने कहा कि बीमा क्लॉज के अनुसार किसान को 72 घण्टे के भीतर फसल हानि की सूचना संबंधित बीमा कम्पनी को देना चाहिए। कम्पनियों द्वारा जारी टोल फ्री नंबर पर अक्सर फोन नहीं लगता। श्री यादव ने इस समस्या को दूर करने के लिये फसल बीमा कम्पनियों को तहसील स्तर पर टोल फ्री नंबर जारी करने के निर्देश दिये।   

यह भी पढ़ें   समर्थन मूल्य पर गेहूं को बेचने के लिए किसानों के ऑनलाइन पंजीकरण शुरू

कंपनियां 2 दिनों में किसानों की जानकारी उपलब्ध करवाए

मंत्री श्री यादव ने कहा कि सभी फसल बीमा कम्पनियां तहसील स्तर नियुक्त कर्मचारियों तथा फसल हानि की सूचना देने वाले किसानों की जानकारी दो दिन में प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि किसान को फसल बीमा राशि की अंशदान की रसीद देना भी सुनिश्चित किया जाए। श्री यादव ने निर्देशित किया कि फसल हानि पर यथाशीघ्र नियमानुसार क्लेम राशि का भुगतान किया जाना शुरू करें।

जल्द दिया जायेगा फसल बीमा

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में प्रदेश के 27 लाख 64 हजार किसानों की फसलों का खरीफ-2019 के लिये 15 हजार 221 करोड़ 52 लाख रूपये का बीमा किया गया। किसानों की कुल 54 लाख 58 हजार 8 सौ 66 हेक्टेयर कृषि भूमि इसमें शामिल थी। बीमा प्रीमियम के लिये किसानों का अंशदान 352 करोड़ 62 लाख रूपये तथा राज्यांश 509 करोड़ 60 लाख रूपये का है। किसानों को नियमानुसार फसल नुकसानी का क्लेम यथाशीघ्र दिलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें   ट्रैक्टर माउंटेड स्प्रेयर कृषि यंत्र सब्सिडी पर लेने के लिए आवेदन करें

प्रधानमंत्री फसल बीमा कंपनियों के टोल फ्री नम्बर हेतु क्लिक करें 

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

kisan samadhan android app

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here