इन पशुपालकों को दिया जायेगा बोनस

1
1872
दूध बेचने पर किसानों को मिलेगा बोनस

दुग्ध उत्पादकों को दिया जाएगा बोनस

किसान को सिर्फ खेती से लाभ न होने की वजह से वह दुसरे कार्यों से पैसे कमाने के लिए सोच रहे है परन्तु वह उसके लिए उसका गाँव छोड़कर नहीं जा सकता ऐसे मैं उनके पास वहीँ कार्य करने के लिए कुछ चाहिए | पशुपालन किसानों के लिए अच्छा कार्य है पशुपालन कर किसान अतिरिक्त आय कर सकते  है | आज के समय में पशुपालक को भी उतना लाभ नहीं मिलता क्योकि उन्हें दूध के सही दाम नहीं मिलता  | किसानों के द्वारा गाय तथा भैंस पालने में जो खर्च आता है उसका मूल्य दूध में नहीं मिल पा रहा है  जिसके कारण किसान पशुपालन के लिए प्रोत्साहित नहीं हो पाते हैं | किसानों के द्वारा कृषि के बहुत सरी मांगों में से दूध पर बोनस की मांग भी बहुत समय से थी पशुपालक दूध के सही दाम चाह रहे हैं |

इसी मांग को संज्ञान में लेते हुये राजस्थान सरकार ने जनवरी माह में राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब देते हुये , यह घोषणा की थी कि राज्य के सभी किसनों को दूध पर 2 रुपया का बोनस दिया जायेगा | यह बोनस राजस्थान के राज्य प्रायोजित संबल योजना के अंतर्गत सहकारी दुग्ध की आपूर्ति करने वाले पशुपालकों को 2 रूपये प्रति लीटर दूध की दर से अनुदान दिया जायेगा | इस आदेश के 1 फ़रवरी से लागु कर दिया गया है |

यह भी पढ़ें   18 लाख किसानों को दिया गया जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऑनलाइन फसली लोन

इससे किसान को कितना फायदा होगा ?

राज्य सरकार के तरफ से जारी आदेश के अनुसार वित्तीय वर्ष 2018 – 19 में आवश्यक प्रावधान कर दिया गया है | इस फैसले से राजस्थान सहकारी डेयरी फेडरेशन से सम्बंद्ध 21 जिला दुग्ध  संघों के माध्यम से प्रदेश भर में 11 हजार 500 से अधिक दुग्ध समितियों से जुड़े 5 लाख पशुपालक एवं नये जुड़ने वाले पशुपालक लाभन्वित होंगे |

इससे राज्य सरकार पर 220 करोड़ का बोझ पड़ेगा क्योंकि राजस्थान में प्रतिदिन 30 लाख किलोग्राम दूध डेयरियों में इकट्ठा किया जाता है | जो 2 रु. के हिसाब से वर्ष भर में 220 करोड़ रुपया होगा |

ऐसा नहीं है की दूध पर बोनस देने का काम केवल राजस्थान सरकार कर रही है | इससे पहले वर्ष 2018 में महारष्ट्र सरकार ने राज्य के पशुपालकों को प्रति लीटर 5 रु. का बोनस दिया था जो अब भी जारी है |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here