back to top
बुधवार, अप्रैल 17, 2024
होमकिसान समाचार10 मार्च से 2400 रुपये प्रति क्विंटल पर शुरू होगी गेहूं की...

10 मार्च से 2400 रुपये प्रति क्विंटल पर शुरू होगी गेहूं की खरीद, यहाँ करें पंजीयन

समर्थन मूल्य MSP पर गेहूं की खरीद हेतु किसान पंजीयन

गेहूं की कटाई का समय नजदीक आ रहा है, जिसको देखते हुए सरकार द्वारा किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP पर गेहूं खरीद के लिए तैयारी शुरू कर दी गई हैं। इस कड़ी में राजस्थान सरकार द्वारा राज्य में किसानों से MSP पर गेहूं खरीदने के लिये किसानों की पंजीयन प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। खास बात यह है कि राजस्थान सरकार इस वर्ष किसानों को गेहूं खरीद पर बोनस भी देने जा रही है।

राजस्थान में इस आरएमएस सीजन 2024-25 के दौरान समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद का काम दिनांक 10 मार्च 2024 से 30 जून 2024 तक किया जाएगा। इसके लिए पंजीयन प्रक्रिया 20 जनवरी से शुरू कर दी गई है। जो भी किसान समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचना चाहते हैं वे किसान ऑनलाइन पोर्टल पर 25 जून 2024 तक अपना पंजीयन कराकर गेहूं बेच सकते हैं।

गेहूं खरीद पर दिया जाएगा बोनस

भारत सरकार द्वारा आरएमएस 2024-25 हेतु गेहूं का समर्थन मूल्य 2275 रुपये प्रति क्विंटल घोषित किया गया है। जिस पर राज्य सरकार द्वारा किसानों को राजस्थान कृषक समर्थन योजना के अंतर्गत 125 रुपये प्रति क्विंटल की दर से बोनस दिया जाएगा। खाद्य विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण करवा कर क्रय एजेंसी के माध्यम से गेहूं बेचने वाले पंजीकृत किसानों को उनके जनाधार से जुड़े बैंक खाते में कुल 2400 रुपये प्रति क्विंटल की दर से उनकी उपज का मूल्य प्राप्त होगा।

यह भी पढ़ें   जैविक खेती करके इस किसान ने अपनी आय की सात गुना, प्रधानमंत्री मोदी ने की सराहना

पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने हेतु पंजीकरण के लिए जन-आधार कार्ड अनिवार्य है। कृषक के जन-आधार कार्ड में पंजीकृत परिवार के एक या एक से अधिक सदस्यों (जिनके नाम से गिरदावरी) द्वारा भी पोर्टल पर पंजीकरण कराया जा सकता है। पंजीयन से पहले पंजीयनकर्ता जिस बैंक खाते में भुगतान चाहता है उस बैंक खाते को जनाधार से जुड़वाना आवश्यक है।
  • पंजीकरण के समय पोर्टल पर किसान की गिरदावरी भू-प्रबंधन विभाग के रिकॉर्ड से ऑटो-फेच की जायेगी। पंजीकरण प्रक्रिया जल्द प्रारंभ की जा रही है। अतः संभावना है कि पंजीकरण के समय गिरदावरी ऑटो फेच नहीं हो पाये। ऐसी स्थिति में पोर्टल में यह प्रावधान किया गया है कि बिना गिरदावरी के ही किसान का पंजीकरण हो सके। जैसे ही ऑनलाइन गिरदावरी भू-प्रबंधन विभाग द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी, खरीद पोर्टल द्वारा ऑटो फेच कर ली जाएगी।
  • पंजीकरण के समय पोर्टल पर किसान की भूमि का विवरण राजस्व विभाग के रिकॉर्ड से ऑटो फेच किया जाएगा। यदि किसान स्वयं भूमि मालिक नहीं है तो उसके द्वारा भूमि मालिक का जान आधार/ आधार एवं किराए की भूमि/ बटाईदार/ अनुबंध भूमि पर कार्य करने के संबंध स्व-घोषणा पत्र की स्व हस्ताक्षरित प्रति पोर्टल पर अपलोड करना आवश्यक होगा।
यह भी पढ़ें   कृषि क्लिनिक के लिए 646 लोगों ने किया आवेदन, युवाओं को मिलेगा रोजगार

समर्थन मूल्य MSP पर गेहूं बेचने के लिए पंजीयन कहाँ करें?

भारत सरकार एवं भारतीय खाद्य निगम, नई दिल्ली के दिशा निर्देशानुसार राजस्थान में भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) द्वारा रबी विपणन वर्ष 2024-25 में गेहूं की खरीद का कार्य mspproc.rajasthan.gov.in के माध्यम से किया जाएगा। किसान अपना पंजीयन उक्त पोर्टल पर ई-मित्र, अटल सेवा केन्द्र एवं अन्य माध्यम से करवा सकते हैं। पंजीयन की प्रक्रिया 20 जनवरी-2024 से प्रारंभ हो चुकी है तथा गेहूं की खरीद 10 मार्च-2024 से शुरू हो रही है। भारतीय खाद्य निगम द्वारा किसानों को उनकी उपज के मूल्य का भुगतान सीधे उनके बैंक खातों में गेहूं बेचने के 48 घंटे में नियमानुसार कर दिया जाएगा।

यदि किसानों को सरकारी केन्द्रों पर गेहूं बेचने में किसी प्रकार की कठिनाई आ रही हो तो हेल्पलाइन नंबर 18001806030 पर सहायता हेतु सम्पर्क कर सकते हैं। निगम द्वारा पंचायत स्तर पर मुनादी कार्यक्रम/रजिस्ट्रेशन कैंप आयोजित कर किसानों के बीच खरीद के बारे में अधिक जागरूकता बढ़ाने एवं रजिस्ट्रेशन का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबरें

डाउनलोड एप