समर्थन मूल्य पर फसल बेचने के लिए 16 अक्टूबर तक गिरदावरी अनिवार्य रूप से अपलोड करवाएं किसान

1
2350

समर्थन मूल्य पर फसल बेचने के लिए गिरदावरी अनिवार्य रूप से अपलोड करवाएं किसान

खरीफ फसलें खेतों में पक कर तैयार हैं, उन्हें समर्थन मूल्य पर बेचने की लिए राजस्थान के किसानों को 16  अक्टूबर तक पंजीकरण के  साथ गिरदावरी अनिवार्य रूप से अपलोड करवाना अनिवार्य है अन्यथा वह अपनी फसल बेच नहीं पाएंगे |

किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए 3 अक्टूबर से मूंग व उडद तथा 6 अक्टूबर से मूंगफली एवं सोयाबीन का ऑनलाईन पंजीयन किया जा रहा है। जिन किसानों ने 12 अक्टूबर तक ऑनलाईन पंजीयन कराया है लेकिन पंजीकरण के समय गिरदावरी अपलोड नहीं की है ऎसे किसानों को 16 अक्टूबर तक पंजीकरण सेे सबधित ई-मित्र या खरीद केन्द्र पर आवश्यक रूप से गिरदावरी अपलोड करवानी होगी। गिरदावरी के अभाव में ऎसे किसानों का पंजीकरण मान्य नहीं होगा।

राजफैड की प्रबन्ध संचालक डॉ.वीना प्रधान ने बताया कि किसान गिरदावरी सहित अन्य दस्तावेज समय रहते अपलोड करा दे जिससे खरीद प्रक्रिया को निर्बाध रूप से संचालित किया जा सके। उन्होंने बताया कि जिन किसानों को तुलाई की दिनांक आवंटित हो गई है उनका खरीद केन्द्र पर गिरदावरी ऑनलाईन एवं ऑफलाईन मिलान होने के बाद दिनांक आवंटन के 5 दिवस में तुलाई की सुविधा प्रदान की गई है।

किसानों द्वारा गिरदावरी के अतिरिक्त किसी अन्य दस्तावेज के आधार पर पंजीकरण करवाया गया है तो वह पंजीकरण अमान्य होगा तथा किसान के दस्तावेज का ऑनलाईन व आफलाईन मिलान नहीं होने पर खरीद केन्द्र द्वारा कृषि जिन्स की खरीद संभव नहीं होगी।

Previous articleदलहन उत्पादन सुरक्षा एवं प्रसंस्करण की तकनीक
Next articleरबी फसल की बुवाई से पहले जान लें उनका क्या भाव मिलेगा

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here