समर्थन मूल्य पर मूंग एवं उड़द बेचने के लिए 20 जून तक करायें पंजीकरण

0
433
moong urad msp registration mp

MSP पर मूंग एवं उड़द बेचने के लिए पंजीयन

ग्रीष्मकालीन मूंग एवं उड़द की कटाई पूरी हो गई है, किसान अब इसे बेचकर जल्द से जल्द खरीफ फसलों की तैयारी करना चाहते हैं | जायद मूंग एवं उड़द को प्रोत्साहन देने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग एवं उड़द की खरीदी 15 जून से शुरू कर दी है | इसके लिए पंजीयन 8 जून से शुरू कर दिए गए थे, जो 16 जून तक किया जाना था | लेकिन इस अवधि में बहुत से किसानों के पंजीयन से वंचित रह जाने के कारण पंजीकरण की अंतिम तिथि को बढाकर 20 जून कर दिया है | अब किसान 20 जून तक समर्थन मूल्य पर मूंग एवं उड़द लगाने के लिए पंजीकरण करवा सकते हैं |

ग्रीष्मकालीन उड़द तथा मूंग बेचने के लिए मध्य प्रदेश के किसान 20 जून तक पंजीयन करा सकते हैं | पहले पंजीयन का डेट 8 जून से 16 जून तक निर्धारित था जिसे बढाकर 20 जून कर दिया गया है |

यह भी पढ़ें   सब्सिडी पर यह सभी कृषि यंत्र लेने के लिए आवेदन करें

30 जिलों के किसान बेच सकेगें MSP पर मूंग

राज्य के किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने बताया कि भारत द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर ग्रीष्मकालीन मूंग को पहले 27 जिलों के किसान बेच सकते थे लेकिन इसमें भोपाल, बुरहानपुर तथा श्योपुरकला को भी अब जोड़ दिया गया है | जिससे जिलों की संख्या 30 हो जाती है | इन जिलों के किसान समर्थन मूल्य पर अपना पंजीकरण कर उपज मंडी में बेच सकते हैं |

2 लाख 32 हजार किसान अभी तक करवा चुके हैं पंजीयन

कृषि मंत्री ने बताया कि प्रदेश में 6 लाख 82 हजार हेक्टेयर से अधिक क्षेत्रफल में मूंग लगाई गई है | अब तक 2 लाख 32 हजार किसानों ने 15 जून 2021 तक पंजीयन करा लिया है | सबसे अधिक पंजीयन राज्य के पांच जिलों होशंगाबाद, हरदा, नरसिंहपुर, सीहोर और के किसानों ने करवाया है | समर्थन मूल्य पर खरीदी 15 सितम्बर तक की जाएगी |

समर्थन मूल्य पर मूंग एवं उड़द बेचने के लिए कहाँ करें पंजीकरण

किसान ग्रीष्मकालीन मूंग एवं उड़द को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए 8 जून से पंजीकरण चल रहे हैं | किसान सोसाइटी के माध्यम से अथवा ई-उपार्जन पोर्टल से पंजीयन करवा सकते हैं | इसके अतिरिक्त किसान एम.पी.किसान एप, ई-उपार्जन मोबाईल पंजीयन, कॉमन सर्विस सेण्टर, लोक सेवा केंद्र और ई–उपार्जन केन्द्रों या समिति स्तर पर स्थापित पंजीयन केंद्र पर जाकर अपनी उपज का पंजीकरण करवा सकते हैं |

यह भी पढ़ें   जैविक खेती के लिए 5,539 किसानों को 574.6185 लाख रूपये का अनुदान

किसानों को अनिवार्य रुप से समिति स्तर पर पंजीयन हेतु आधार नंबर, बैंक खाता नंबर, मोबाइल नंबर की जानकारी उपलब्ध करवाना होगा | किसानों को पंजीयन करवाते समय कृषक का नाम, समग्र आई डी नम्बर, ऋण पुस्तिका, आधार नम्बर, बैंक खाता नम्बर, बैंक का आईएफएससी कोड, मोबाइल नम्बर की सही जानकारी देना होगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here