18 मंडियों में गेहूं खरीद पर रोक, दुसरे राज्यों के किसान भी अभी यहाँ नहीं बेच पायंगे अपनी फसल

0
367
gehu ki mandi kharid

18 मंडियों में गेहूं खरीदी पर 24 घंटे की रोक  

रबी फसलों में गेहूं की खरीद के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, चंडीगढ़, दिल्ली और गुजरात राज्यों में शुरू हुई है जिसमें 11 अप्रैल तक 5774.20 करोड़ रुपये के एमएसपी मूल्य पर 29.24 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं की खरीद की गई है। इस खरीद से 3,30,046 किसानों को लाभ मिला है | जिसमें हरियाणा में अभी तक 29 लाख टन गेहूं मंडी में लाया गया है लेकिन गेहूं की ट्रांसपोर्टिंग नहीं होने के करण मंडी में जाम की स्थिति बनी हुई है | जिसके कारण और किसानों के द्वारा लाया जा रहा गेहूं को रखने के लिए स्थान कम पड़ रहा है |

इस स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार ने गेहूं की खरीदी पर राज्य के 7 जिले की 18 कृषि उपज मंडी में गेहूं की खरीदी पर 18 घंटे की रोक लगा दी है | इन 18 मंडियों में आने वाले किसानों को 24 घंटे तक गेहूं की खरीदी नहीं की जाएगी | इसके साथ ही राज्य में दुसरे राज्य से गेहूं बेचने वाले किसानों पर भी रोक लगा दी है |

रोक क्यों लगाई गई है ?

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न होने के बाद बताया गया है की राज्य में इस समय 24 लाख मीट्रिक टन कुल गेहूं की आमद के फलस्वरूप 2.8 लाख मीट्रिक टन गेहूँ का उठान हुआ है | उठान कम होने के कारण मंडी में जाम की स्थिति बनी हुई है | मुख्यमंत्री के तरफ से जिला कमिटी को उठान सुनिश्चित करने को कहा गया है |

यह भी पढ़ें   किसान इस एप की मदद से घर बैठे बुला सकते हैं कृषि उपज परिवहन के लिए वाहन

इन 18 मंडियों में लगाई गई रोक

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया है कि 18 मंडियों में 24 घंटों के लिए रोक लगाई जाये | यह 18 मंडी इस प्रकार है :-

  • यमुनानगर में रादौर
  • कुरुक्षेत्र में थानेसर, पिहोवा, ईस्माईलाबाद, लाडवा और बबैन
  • करनाल में निसिंग, तरावडी, असन्ध, इन्द्री और नीलोखेडी
  • अम्बाला में अम्बाला शहर और साहा
  • कैथल में कैथल, कलायत और चौक
  • सोनीपत में गोहाना
  • पानीपत में समालखा

किसान क्या करें ?

किसान ऊपर दी गई मंडियों में जाने पर गेट पास नहीं दिया जायेगा | जिससे उन्हें गेट पर ही 24 घंटों के लिए इंतजार करना होगा | सरकार के तरफ से किसानों को कहा गया है की जबतक एस.एम.एस. नहीं आता है तब तक मंडी नहीं पहुँचे | किसान चाहे तो मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल से फसल बेचने के लिए डेट बदल सकते हैं |

राज्य में 15.69 लाख टन गेहूं की खरीदी किया गया

हरियाणा में 11 अप्रैल तक कुल 11.10 लाख टन गेहूं की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर विभिन्न एजेंसियों द्वारा की गई | एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि अभी तक प्रदेश की 396 मंडी / खरीदी केन्द्रों पर कुल 29.47 लाख टन गेहूं की आमद हो चुकी है, जिसमें से कुल 15.69 लाख टन गेहूं की खरीदी भी हो चुकी है | 11 अप्रैल तक राज्य के 1,05,433 किसानों के 1,90,641 जे – फार्म बनाए जा चुके हैं | 11 अप्रैल तक 149.28 करोड़ रूपये की अदायगी सीधे किसानों के खातों में की जा चुकी है |

यह भी पढ़ें   8 और 9 सितम्बर को कृषि मेले में किसानों को किया जायेगा सम्मानित, किसान खरीद सकेंगे उन्नत किस्मों के बीज

दुसरे राज्य के किसानों को हरियाणा में प्रवेश पर रोक

दुसरे राज्यों के किसानों को राज्य की मंडियों में प्रवेश पर रोक लगा दी है | राज्य की मंडियों में बढ़ते आवक तथा गेहूँ के उठान नहीं होने के कारण रोक लगाई गई है | यह रोक अगले आदेश तक लागू रहेगी | दुसरे राज्यों से आने वाले किसानों को रोकने के लिए राज्य के पुलिस महानिदेशक को राज्य सीमा पर नाका लगाने के लिए निर्देश दिए गए हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here