राज्य में 2024 पशुधन सहायकों की नियुक्ति के आदेश जारी, अब खोले जाएंगे 400 नए पशु चिकित्सा उपकेंद्र

12207
new pashu chikitsa kendra

पशु चिकित्सा केंद्र एवं पशु सहायक नियुक्ति

देश में पशु की चिकित्सा के लिए किसानों एवं पशुपालकों को सरकारी पशुचिकित्सालय पर ही निर्भर रहना पड़ता है | पशुचिकित्सालय की संख्या कम होने के चलते किसानों को इसका लाभ नहीं मिल पाता | किसानों एवं पशुपालकों को पशु के इलाज के लिए ब्लॉक या जिले में जाना होता है | कई जिलों में वह भी उपलब्ध नहीं है | यहाँ तक की पशुपालन सम्बन्धी योजनाओं का क्रियान्वन भी पशुचिकित्सालय के माध्यम से ही होता है | ऐसे में जरुरी है की प्रत्येक किसानों एवं पशुपालक को पशु चिकित्सालय नजदीक में ही उपलब्ध हो |

राजस्थान के पशुपालन मंत्री श्री लालचन्द कटारिया ने मंगलवार को विधानसभा में बताया कि वर्ष 2019-20 में बजट घोषणा अन्तर्गत प्रदेश में 400 पशु चिकित्सा उपकेन्द्र खोले जाने प्रस्तावित हैं, जिसके तहत वर्तमान में 226 पशु चिकित्सा उपकेन्द्र स्वीकृत किये जा चुके हैं। श्री कटारिया प्रश्नकाल में विधायक श्री रामलाल शर्मा के मूल प्रश्न का जवाब देते हुए बताया कि पशु उपकेन्द्र खोलने के लिए मानदण्ड निर्धारित है। उन्होंने पशु चिकित्सा उपकेन्द्र खोलने के मानदण्ड की जानकारी सदन के पटल पर रखी। वित्तीय वर्ष 2019-20 में नव स्वीकृत पशु चिकित्सा उपकेन्द्रों के अक्रियाशील होने के कारण बजट आवंटन व्यय नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें   अच्छी खबर: किसानों से अब इस भाव पर लहसुन खरीदेगी सरकार

2024 पशुधन सहायकों के नियुक्ति आदेश जारी

पशुपालन विभाग ने 2024 पशुधन सहायकों के नियुक्ति आदेश जारी कर दिए हैं। पशुपालन मंत्री श्री लाल चंद कटारिया ने बताया कि गैर अनुसूचित क्षेत्र में 1791 एवं अनुसूचित क्षेत्र में 233 पशुधन सहायकों को नियुक्ति दी गई है। इन्हें रिक्त चल रहे पदों पर नियुक्ति देकर कार्यग्रहण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुसार प्रदेशभर में नए पशु चिकित्सा उप केंद्र खोलने और नए कार्मिकों की नियुक्ति से पशु चिकित्सा सेवाओं का विस्तार होगा। पशु अस्पतालों को मजबूती मिलेगी और पशुओं का इलाज नजदीक ही उपलब्ध हो सकेगा, जिससे पशुपालकों को सहूलियत होगी। साथ ही दो हजार से अधिक युवक-युवतियों को रोजगार मिलेगा।

उल्लेखनीय है कि इस भर्ती परीक्षा का प्रकरण काफी समय से न्यायालय में अटका हुआ| सरकार के निर्देशों से विभाग ने प्रभावी पैरवी कर भर्ती प्रक्रिया का मार्ग प्रशस्त करवाया। कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से परिणाम जारी होने के बाद श्री कटारिया ने विभागीय अधिकारियों को चयन बोर्ड से  समन्वय कर जरूरी प्रक्रिया पूरी करते हुए पात्र व्यक्तियों को शीघ्र नियुक्ति प्रदान करने के निर्देश दिए थे। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से 21 अक्टूबर 2018 को पशुधन सहायक सीधी भर्ती परीक्षा आयोजित की गई थी। इसका परीक्षा परिणाम 29 जनवरी 2019 को जारी किया गया था।

यह भी पढ़ें   फसल बुवाई के लिए किसानों को दी जाये पर्याप्त बिजली: मुख्यमंत्री

पशु चिकित्सा उपकेन्द्र सूचि देखने के लिए क्लिक करें

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

पिछला लेखवर्ष 2020 में किसान यहाँ से लें मशरूम की खेती के लिए प्रशिक्षण
अगला लेखइस जिले के किसानों का किया गया 9 करोड़ 7 लाख रुपये का लोन माफ

4 COMMENTS

    • अपने जिले के पशुपालन विभाग में सम्पर्क करें |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.