18 लाख किसानों को दिया गया जीरो प्रतिशत ब्याज पर ऑनलाइन फसली लोन

3
26248
kisan online fasal loan raj

ऑनलाइन शून्य प्रतिशत ब्याज पर फसली ऋण

इस वर्ष के लिए केंद्र सरकार ने किसानों के लिए कृषि ऋण की सीमा बढ़ाकर 15 लाख करोड़ रुपये कर दी है मतलब साफ है अधिक से अधिक किसान बैंकों से लोन लेकर अपनी कृषि आवश्यकताओं को प्पोरा कर सकें | वहीँ राज्य सरकारें भी किसानों को आसनी से फसली ऋण मिल सके इसके प्रयास में लगी हैं, जिससे किसानों को मौसमी फसल के अनुसार ऋण मिल सके | इसके अंतर्गत वित्त वर्ष 2019–20 में राजस्थान सरकार ने राज्य के किसानों के लिए 18,000 करोड़ रुपये जारी किये है |

राजस्थान एक मात्र ऐसा राज्य है जहाँ किसान कृषि लोन लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं | किसानों को लोन के लिए बैंक का चक्कर नहीं लगाने पड़ते हैं | इस वर्ष राजस्थान सरकार के अनुसार राज्य में किसानों को फसल सहकारी ऋण देने में रिकार्ड बनाया है | प्रदेश में सहकारी फसली ऋण ऑनलाइन वितरण प्रक्रिया से एक वर्ष के भीतर 8 लाख से अधिक नए किसान पहली बार फसली ऋण प्रणाली से जुड़े हैं | ऑनलाइन फसल ऋण प्रणली से जुड़े 7 लाख किसानों को लगभग 18,00 करोड़ रूपये का सहकारी फसली ऋण वितरण कर किसानों में हो रहे भेदभाव को पूरी तरह समाप्त किया है | यह ब्याज शून्य प्रतिशत के ब्याज पर दिया गया है |

यह भी पढ़ें   इंदौर एवं सूरत पहुंचा मानसून, जानिए क्या है मानसून की ताजा स्थिति

अभी तक कितने किसानों को दिया गया ऑनलाइन फसली ऋण

राजस्थान सहकारी बैंक द्वारा ऑनलाइन फसली ऋण वितरण एवं पंजीयन योजना–2019 की शुरुआत की गयी जिसमें बायोमैट्रिक सत्यापन के आधार पर पात्र किसान को फसली ऋण वितरण होने लगा | इससे राज्य में 8 लाख नये किसानों को जोड़कर अब तक 21 लाख से अधिक किसान सहकारी फसली ऋण से जोड़े गये हैं और 8244 करोड़ रूपये से अधिक फसली ऋण किसानों को मिल चूका है |

नई फसली ऋण व्यवस्था में फसली ऋण से जुड़े 13 लाख पुराने किसान भी है जो सहकारी बैंकों के साथ अन्य बैंकों से फसली ऋण प्राप्त कर रहे हैं | राज्य में फसली ऋण के लिए आज तक 25 लाख से अधिक किसानों ने फसली ऋण के लिए आवेदन किया है | जिनमे से 21.20 लाख किसानों को खरीफ सीजन में 4,583 करोड़ रूपये तथा रबी सीजन में 3,661 करोड़ रूपये का फसली ऋण वितरित किया गया है | अब तक लगभग 7 लाख नये किसानों को फसली ऋण वितरित हो चुके है शेष किसानों को 31 मार्च 2020 तक ऋण वितरित कर दिये जायेंगे | फसली ऋण वितरण में बायोमैट्रिक सत्यापन ने अपात्र किसानों को दूर कर पात्र किसनों को फसली ऋण से जोड़ा है राजस्थान कृषक ऋण माफ़ी योजना में भी बायोमैट्रिक सत्यापन से पात्र किसानों की ऋण माफ़ी की गई हैं |

यह भी पढ़ें   राजस्थान कर्ज माफी लिस्ट:12 लाख से अधिक किसानों का डेटा अपलोड

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

kisan samadhan android app

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here