back to top
शुक्रवार, अप्रैल 19, 2024
होमकिसान समाचारइन किसानों को फसल बीमा योजना के तहत मिला सबसे अधिक मुआवजा,...

इन किसानों को फसल बीमा योजना के तहत मिला सबसे अधिक मुआवजा, सरकार ने किया सम्मानित

फसल बीमा योजना के तहत मुआवजा एवं पंजीयन

देश में अभी खरीफ फसलों की बुआई के साथ ही बोई गई फसलों का बीमा किया जा रहा है। अधिकांश राज्यों में किसान 31 जुलाई तक अपनी फसलों का बीमा करा सकते हैं। ऐसे में सरकार द्वारा अधिक से अधिक किसानों को फसल बीमा योजना के तहत जोड़ने के लिए व्यापक तौर पर प्रचार-प्रसार के साथ ही कई कार्य किए जा रहा है। इस कड़ी में उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री ने फसल बीमा प्रचार के लिए वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया साथ ही राज्य में सबसे अधिक मुआवज़ा प्राप्त करने वाले किसानों को सम्मानित भी किया गया।

भारत सरकार द्वारा संचालित फ्लैगशिप योजनाप्रधानमंत्री फसल बीमा योजनाके व्यापक प्रचारप्रसार करने, योजना के प्रति कृषकों की आशंकाओं के समाधान करने एवं योजना में कृषकों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से कृषि भवन लखनऊ में एक राज्य स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन राज्य के कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही द्वारा किया गया। योजना की जागरूकता का कार्यक्रम प्रदेश में पूरे जुलाई माह में चलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें   25 अगस्त तक ग्राम पंचायतों में किया जाएगा किसान पाठशाला का आयोजन, किसानों को मिलेगी यह जानकारी

बीमित किसानों को किया गया सम्मानित

इस दौरान कृषि मंत्री ने खरीफ सीजन–2022 एवं रबी सीजन 2022–23 के लिए सर्वाधिक क्षतिपूर्ति प्राप्त करने वाले बीमित किसानों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। प्रशस्ति पत्र प्राप्त करने वालों में जनपद सीतापुर के राम अचल को 1.67 लाख रुपये, ललितपुर के राजेन्द्र सिंह को 1.34 लाख रूपये, बाराबंकी के विक्रमजीत सिंह को 1.26 लाख रूपये, सीतापुर के सावली प्रसाद को 1.25 लाख रुपये, बाराबंकी के कौशलेन्द्र प्रताप सिंह को 1.23 लाख रुपये, वाराणसी के रामबली मिश्र को 1.22 लाख रुपये, दिनेश सिंह को 1.21 लाख रुपये तथा बारांबकी के रामगोपाल, माधुरी, यदुनन्दन को क्रमशः 1.18 लाख रूपये, 1.14 लाख रुपये तथा 1.13 लाख रूपये का बीमा प्राप्त करने वाले किसान शामिल थे।

किसान 31 जुलाई तक करायें अपनी फसलों का बीमा

इस अवसर पर कृषि मंत्री ने कहा कि आज कृषि जगत में सबसे बड़ी चुनौती, जो किसान भाइयों के सामने है, वह है जलवायु परिवर्तन। समय से वर्षा न होना, दो से तीन दिन में ही पूरे सीजन की वर्षा हो जाना, तापमान अचानक कम व अधिक हो जाना ये चीज किसानों के लिए प्रतिकूल होती है, ऐसे में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना के अंतर्गत बीमित कृषक इसका लाभ उठा सकते हैं। प्रदेश के सभी कृषक भाई योजना के तहत 31 जुलाई 2023 तक अपनी फसलों का बीमा कराकर प्राकृतिक आपदाओं से अपनी फसल को सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें   सरकार अब धान, मक्का सहित इन खरीफ फसलों के नुक़सान पर भी देगी मुआवजा, अधिसूचना जारी

इस दौरान सांस्कृतिक दल द्वारा प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना पर एक नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत कर योजना की सभी जानकारियां बहुत रोचक ढंग से प्रस्तुत की गयी। कार्यक्रम के दौरान कृषि मंत्री, कृषि राज्य मंत्री तथा अपर मुख्य सचिव कृषि ने सभी जनपदों में किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए जागरूक करने हेतु जा रहे वाहनों को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबरें

डाउनलोड एप