प्रत्येक किसान की समस्या सुन हर खेत का सर्वे किया जाए: कृषि मंत्री यादव

2035
barish se khet ki faslo ke hue nuksan ka sarve

हर खेत में किया जाये सर्वे

मानसूनी बारिश का दौर समाप्त हो गया है अब जहाँ जहाँ अधिक बारिश से फसलों को क्षति पहुंची है उस जगह पर सर्वे का काम चल रहा है | एक अनुमान के मुताबिक इस वर्ष सिर्फ मध्यप्रदेश राज्य में  अति-वृष्टि और बाढ़ से प्राथमिक अनुमान के अनुसार लगभग 12 हजार करोड़ रूपये का नुकसान हुआ है। प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्र में वर्षा से अब तक सबसे ज्यादा क्षति हुई है | मध्यप्रदेश के सभी प्रमुख मंत्री एवं केंद्र सरकार द्वारा भेजा गया दल लगातार बारिश से हुए नुकसान का जायजा विभिन्न जिलों में ले रहा है ताकि नुकसान का आकलन कर किसानों को जल्द राहत पहुंचा दी जा सके |

मध्यप्रदेश के किसान-कल्याण एवं कृषि विकास, उद्यानिकी और खाद्य प्र-संस्करण मंत्री श्री सचिन यादव लगातार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर नुकसान का जायजा ले रहे हैं कृषि मंत्री श्री यादव ने एसडीएम, तहसीलदार, सहकारिता, कृषि विभाग और बैंकर्स को निर्देश दिए कि जिस तरह वे खेत-खेत जाकर निरीक्षण कर रहे हैं, ऐसे ही सर्वे टीम भी खेत-खेत जाकर पूरी ईमानदारी से अपना काम करें।

यह भी पढ़ें   किसानों को अब मंडियों में आसानी से मिलेंगे उच्च गुणवत्ता युक्त प्रमाणित बीज

सर्वे दलों को स्पष्ट तौर पर बताया जाए कि प्रत्येक किसान की समस्या को सुने और सर्वे शीघ्र करे। कृषि मंत्री ने अति वृष्टि से प्रभावित फसलों के अवलोकन के लिए भोपाल से गये अपर संचालक कृषि श्री बी.एम. सहारे को भी खेतों के बीच ले जाकर कपास, सोयाबीन और मक्का की फसलों को दिखाया। कृषि मंत्री ने कहा कि वर्तमान हालातों से किसानों को उबारने के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास करेगी।

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

पिछला लेखजैविक खेती कर रहे किसानों को दिया जाएगा 1 लाख रुपये तक का ईनाम, अभी आवेदन करें
अगला लेखआखिर इन किसानों से क्या गलती हुई जो इन्हें नहीं दी जा रही पीएम किसान योजना की किस्त

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.