सरकार ने जारी की नई सौर ऊर्जा नीति, किसानों को 96 प्रतिशत सब्सिडी पर मिलेंगे सोलर पम्प

37265
solar pump Subsidy

सोलर पम्प सेट अनुदान

देश में स्वच्छ ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिसके लिए देश भर में कुसुम योजना चलाई जा रही है। कुसुम योजना के तहत वैसे तो लाभार्थी किसानों को 60 प्रतिशत अनुदान ही दिया जाता है परंतु कुछ राज्य सरकारों द्वारा इसमें अधिक टॉप-अप देकर अनुदान की मात्रा बढ़ा दी गई है जिससे किसानों को अधिक अनुदान मिलता है और वे बहुत कम खर्चे में अपने खेतों में सोलर पम्प लगवा सकते हैं। इस कड़ी में झारखंड सरकार राज्य के किसानों को 96 प्रतिशत अनुदान दे रही है। 

झारखंड सरकार ने सौर ऊर्जा के व्यापक विस्तार हेतु सौर ऊर्जा नीति 2022 लागू कर दी है, जिसके तहत सौर ऊर्जा से 4,000 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य 2022-23 से 2026-27 के लिए निर्धारित किया गया है। सौर ऊर्जा नीति के तहत राज्य में सोलर पार्क, कैनाल टॉप सोलर, फ़्लोटिंग सोलर जैसी कई योजनाओं के माध्यम से राज्य में सौर ऊर्जा का विकास किया जाएगा।

यह भी पढ़ें   पीएम किसान योजना में कैसे देखें अपना नाम,क्या है हेल्पलाइन नंबर ?

सोलर पम्प सेट अनुदान के लिए बनाया जाएगा पोर्टल

राज्य के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन के निर्देश के बाद राज्य के किसानों को सिंचाई के वैकल्पिक साधन उपलब्ध कराने की दिशा में एक कदम और बढ़ाया जा रहा है। जिसके तहत किसान सोलर वॉटर पम्प सेट योजना हेतु वेब पोर्टल का उद्घाटन किया जाएगा। इस वेब पोर्टल के ज़रिए किसानों को सोलर पम्प सेट प्राप्त करने हेतु प्रारम्भिक चरण से सोलर पम्प के वितरण एवं अधिष्ठापन, संचालन एवं 5 वर्ष तक उसके रख रखाव की प्रक्रिया को सरल एवं पारदर्शी बनाने के लिए डेटा संग्रहण, डेटा विश्लेषण एवं ऑनलाइन मानिटरिंग की जाएगी। पोर्टल के माध्यम से किसान सोलर पम्प सेट प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन की स्थिति देख सकेंगे। 

किसानों को सोलर पम्प सेट पर दिया जाने वाला अनुदान Subsidy

झारखंड सरकार राज्य के किसानों को ऑफ़ ग्रिड सोलर पम्प सेट पर लगभग 96 प्रतिशत की सब्सिडी दे रही है। जिसमें किसानों को लगभग 4 प्रतिशत राशि ही देनी होती है। प्रथम चरण में अब तक क़रीब 6717 किसानों को सोलर पम्प सेट पूरे राज्य में दिए जा चुके हैं। जिसमें 2020 से 22 तक राज्य भर में 6500 सोलर पम्प सेट लगे हैं। सोलर पम्प सेट लगाने में झारखंड पूरे देश में 5वां स्थान रखता है। दूसरे चरण में राज्य सरकार ने 10 हजार सोलर पम्प सेट लगाने का लक्ष्य तय किया है।

यह भी पढ़ें   किसान इस तरह करें कपास में गुलाबी इल्ली (सुंडी) कीट की पहचान एवं उसका नियंत्रण
पिछला लेखइस मौसम में सोयाबीन की अधिक पैदावार के लिए किसान करें यह काम
अगला लेखधान की जगह इन फसलों की खेती करने पर सरकार देगी 7000 रुपए प्रति एकड़ का अनुदान

8 COMMENTS

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.