कृषि उपज सम्बंधित बिलों के विरोध में किसानों का भारत बंद

452
kisan bharat band

किसान बिल विरोध में किसान भारत बंद

देश में किसानों एवं विपक्षी दलों के द्वारा 25 सितम्बर को भारत बंद का आह्वान किया गया था जिसका असर कई राज्यों में देखने को मिल रहा है | किसानों की मांग है की केंद्र सरकार द्वारा जो तीन बिल लाये गए हैं उन्हें वापस लिया जाए या तो बिल में यह लिख दिया जाये की किसानों की फसलों की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP पर ही की जाएगी | किसान की फसल को देश मे कही भी MSP से कम पर खरीद को तुरंत गैर कानूनी घोषित किया जाए अर्थात न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP को कानूनी दर्जा दिया जाये | सरकार द्वारा लाये गए तीन विधेयक यह हैं जिनका विरोध किया जा रहा है |

  • कृषि उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन एवं सरलीकरण) विधेयक, 2020
  • कृषक (सशक्तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020
  • आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक, 2020

जहाँ सरकार का कहना है किन इन ऐतेहासिक कानूनों से किसानों को आजादी मिली है जिससे किसानों को अब फसलों को सही मूल्य मिलेगा एवं विचौलियों से मुक्ति मिलेगी वहीँ विपक्षी दलों एवं किसान संगठनों का कहना है कि यह किसानों के लिए काला कानून है इससे किसानों को कंपनीयों का गुलाम बनाया जायेगा | सरकार का यह भी आरोप है की विपक्षी पार्टियों के द्वारा भ्रम फैलाया जा रहा है | MSP पर खरीद पहले भी होती थी और आगे भी होती रहेगी |

यह भी पढ़ें   न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए 10 मार्च तक पंजीयन करायें

किसान संगठनों के बंद को विपक्षी पार्टियों कांग्रेस, राजद, समाजवादी पार्टी, अकाली दल, आप, टीएमसी समेत कई राजनीतिक दलों का समर्थन दिया है | पंजाब राज्य में जहाँ रेल रोको अभियान कल से ही चल रहा है, आज पंजाब में बाजार भी बंद रहा | जिसको देखकर रेलवे ने पंजाब जाने वाली 13 जोड़ी ट्रेनों को पंजाब पहुंचने से पहले ही टर्मिनेट कर दिया है, इसके अलावा 14 ट्रेनों को कैंसल कर दिया है | दिल्ली-मेरठ-नोएडा हाईवे भी किसानों के द्वारा बंद कर दिया गया | हरियाणा में जगह जगह किसानों ने भारत बंद के अवसर पर प्रदर्शन और रास्ता रोको आयोजित किया गया|

किसान सुबह ही सड़क और रेलवे ट्रैक पर बैठ गए, जगह-जगह चक्का जाम और विरोध प्रदर्शन किया, यहां पूरे दिन बाजार बंद रहा। मध्यप्रदेश, उत्तराखंड राज्यों में किसानों के द्वारा ट्रेक्टर से रैली निकली गई | मध्यप्रदेश में किसानों ने ट्रैक्टर पर काले झंडे बांधकर विरोध प्रदर्शन किया |  उत्तरप्रदेश में भी किसानों ने कई जिलों में प्रदर्शन किया उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में भारतीय किसान यूनियन ने कृषि बिलों के खिलाफ प्रदर्शन किया और अयोध्या-लखनऊ हाईवे जाम कर दिया। पटना में नेता विपक्ष और राजद नेता तेजस्वी यादव ने किसानों के भारत बंद का समर्थन करते हुए खुद ट्रैक्टर चलाया | छत्तीसगढ़, उड़ीसा, तमिलनाडु एवं कर्नाटक राज्यों में भी किसानों का विरोध प्रदर्शन किया |

यह भी पढ़ें   किसानों को सस्ते में मिलेंगे कृषि यंत्र, राज्य में की जाएगी 1000 कस्टम हायरिंग सेंटर की स्थापना

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

पिछला लेखकिसान अभी सितंबर-अक्टूबर माह में लगाएं सब्जियों की यह किस्में
अगला लेखगन्ने की फसल में आर्थिक नुकसान से बचने हेतु अधिक कीटनाशकों का प्रयोग न करें किसान

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.