फसल बीमा जमीनी हकीकत : फसल बीमा के नाम पर हो रही करोड़ों की लूट

किसान समाधान से You-Tube पर जुड़ने के लिए नीचे दिए गए बटन को दबाएँ  

फसल बीमा जमीनी हकीकत : फसल बीमा के नाम पर हो रही करोड़ों की लूट

- Advertisement -

वैसे तो फसल बीमे की शुरुआत फसल क्षति से होने वाली किसानों की हानि को कम करने एवं खेती में किसानों के खतरे को कम करने के लिए की गई है परन्तु इससे अब यह देखा जा रहा है की इससे किसानों को कम लाभ एवं कम्पनियों को अधिक मुनाफा हो रहा है, आइये जानते हैं कैसे ?

जानने के लिए पूरा विडियो देखें | साथ ही किसान समाधान का youtube चेनल को subscribe करें|

राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना का नाम बदलकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कर दिया गया है | इसमें बीमें के लिए केंद्र सरकार ने प्रीमियम के नाम पर केंद्रीय बजट 2016 में 7000 करोड़ रु. 2017 में 9000 करोड़ रु. तथा 2018 में 13000 करोड़ रुपया दिया गया है, लेकिन इस बजट से किसानों को कम तथा बीमा करने वाली कंपनियों को ज्यादा फायदा हो रहा है |

सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में पढने के लिए क्लिक करें 

किसान समाधान का youtube चेनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें 

किसान समाधान से You-Tube पर जुड़ने के लिए नीचे दिए गए बटन को दबाएँ  

- Advertisement -

Related Articles

2 COMMENTS

    • जी अभी बहुत से किसानों को राशि नहीं दी गई है |थोडा इंतजार करें यदि आवेदन में त्रुटी हो गई हो तो सुधार करवाए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
यहाँ आपका नाम लिखें

Stay Connected

217,837FansLike
829FollowersFollow
54,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

ऐप खोलें