5 लाख रुपये तक का गोपाल रत्न पुरस्कार प्राप्त करने के लिए अभी आवेदन करें

2
1839
gopal ratna awards 2021

गोपाल रत्न पुरस्कार हेतु आवेदन

कृषि एवं पशुपालन क्षेत्र में अच्छा कार्य करने वाले किसानों को सरकार द्वारा प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से किसानों को विभिन्न योजना के तहत पुरस्कार दिया जाता है | यह पुरस्कार राज्यों में विभन्न स्तरों एवं राष्ट्रीय स्तर पर दिया जाता है | केन्द्रीय पशुपालन एवं डेयरी विभाग द्वारा पशुपालक एवं डेयरी किसानों को यह पुरस्कार देने के लिए “राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना चलाई जा रही है | जिसके तहत देश में डेयरी किसानों को नवाचार करने के लिए पुरस्कृत किया जाता है |इससे किसानों का पशुपालन के प्रति उत्साह बना रहता है |

इस वर्ष भी किसानों को दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा बनाने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए कृत्रिम गर्भधान तकनीशियनों को 100 प्रतिशत एआई कवरेज लेने तथा सहकारी एवं दुग्ध उत्पादक कंपनियों के मध्य प्रतिस्पर्धा भावना पैदा करने के लिए पुरस्कार दिया जा रहा है | इस योजना से जुडी सभी प्रकार की जानकारी किसान समाधान लेकर आया है |

तीन श्रेणियों में दिए जाएंगे पुरस्कार

योजना के तहत पशुपालन एवं डेयरी क्षेत्र में तीन श्रेणियों में पुरस्कार दिए जाने हेतु आवेदन आमंत्रित किये गए हैं | यह श्रेणियां इस प्रकार है:-

  1. सर्वश्रेष्ठ डेयरी किसान जो देसी गायों का पालन करते हैं,
  2. कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियन (AI),
  3. डेयरी सहकारिता/ दुग्ध उत्पादक कंपनी/ डेयरी किसान उत्पादक संगठन |
यह भी पढ़ें   अच्छी नस्ल के सभी प्रकार के पशु खरीदने के लिए आयें एशिया के सबसे बड़े पशु मेले में

गोपाल रत्न पुरस्कार हेतु पात्रता

इस योजना का लाभ राज्य के डेयरी किसानों, सर्वश्रेष्ठ कृत्रिम गर्भधान तकनीशियन और सहकारी एवं दुग्ध उत्पादक कंपनियों के द्वारा प्रमाणित 50 नस्लों के गाय अथवा 17 देशी प्रमाणित नस्लों में से किसी एक का पालन कर डेयरी करने वाले किसान इसके लिए पात्र होंगे |

इसी प्रकार सर्वश्रेठ कृत्रिम गर्भधान तकनीशियन पुरस्कार के लिए 90 दिन का प्रशिक्षण प्राप्त किए हुए राज्य पशुधन विकास बोर्ड, दुग्ध फेडरेशन, गैर सरकारी संगठन एवं निजी क्षेत्र के कृत्रिम गर्भाधान तकनीशियन पात्र होंगे |

दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में सहकारी एवं कंपनी अधिनियम के तहत ग्राम स्तर पर स्थापित कम से कम 50 किसान सदस्यों एवं प्रतिदिन 100 लीटर दूध का उत्पादन करने वाली सहकारी समिति, एमपीसी, एफपीओ एवं दुग्ध उत्पादक कम्पनी पात्र होंगे |

कितना पुरस्कार दिया जायेगा ?

देश के पशुपालकों को राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना के तहत “गोपाल रत्न पुरस्कार दिया जा रहा है | इसके तहत राज्य के पशुपालकों को तीन श्रेणियों में पुरस्कार दिए जाएंगे | प्रथम पुरस्कार में 5 लाख रूपये, दिव्तीय पुरस्कार में 3 लाख रूपये,  तृतीये पुरस्कार में 2 लाख रूपये दिये जाएंगे |

यह भी पढ़ें   भूमिहीन मधुमक्खी पालकों को दिया जायेगा किसान का दर्जा: मधुमक्खी पालन विकास समिति रिपोर्ट

गोपाल रत्न पुरस्कार योजना के तहत कब आवेदन करें ?

योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं | देश के किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए 15 सितम्बर शाम 5 बजे तक आवेदन कर सकते हैं | योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन अभी चल रहें हैं | पात्र व्यक्ति अभी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं | योजना के तहत चयनित पशुपालकों को राष्ट्रीय दुग्ध दिवस के अवसर पर 26 नवम्बर को समारोह आयोजित कर पुरस्कार प्रदान करेगी |

गोपाल रत्न योजना के तहत आवेदन कहाँ करें

राष्ट्रीय गोकुल मिशन एक देशव्यापी योजना है, योजना के तहत देश के सभी राज्यों के व्यक्ति ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं | योजना के लिए आवेदन केंद्रीय पशुपालन एवं डेयरी विभाग के द्वारा आमंत्रित किये गए हैं | किसी भी राज्य के इच्छुक कृत्रिम गर्भधान तकनीशियन और सहकारी एवं दुग्ध उत्पादक कम्पनियां www.dahd.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं | इच्छुक व्यक्ति अधिक जानकारी के लिए मंत्रालय के टोल फ्री नंबर  011-23383479 पर कॉल कर सकते हैं |

गोपाल रत्न पुरस्कार हेतु आवेदन करने के लिए क्लिक करें

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here