सौर ऊर्जा पम्प से घर बैठे कर रहे खेतों में सिंचाई

0
1590
views

सौर ऊर्जा पम्प से घर बैठे कर रहे खेतों में सिंचाई

नीमच जिले के किसान आज कुछ ऐसा कर रहे हैं, जो देश के सामने मिसाल बन गया है। इस बदलाव का मुख्य कारण प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की डिजिटल इण्डिया की सोच है। जहाँ किसान पहले अपने खेत में खड़ी फसल की सिंचाई के लिए रातभर जागने को मजबूर हुआ करते थे, वहीं अब उन्हें घर बैठकर एक क्लिक पर सिंचाई करने की सुविधा मिल गई है।

नीमच जिले के जावद तहसील के ग्राम अठाना के कुछ किसानों ने सौर ऊर्जा पम्प का फायदा लेने के लिये पहल की है। सोलर पम्प योजना में एक किसान को 72 हजार रुपये का खर्च आया है। शेष राशि राज्य शासन द्वारा अनुदान के रूप में दी गई है। सोलर पम्प को खेत में लगाने के बाद किसान को रात्रि में खेत में जागने की जरूरत नहीं रही है। किसान घर बैठे ही एंड्रायड मोबाइल के माध्यम से सिंचाई कर सकते हैं। सौर ऊर्जा से पम्प करीब 10 से 11 घंटे चलाया सकता है। इस योजना से किसान खुश हैं। सौर ऊर्जा पम्प से उन्हें बिजली के बिलों के भुगतान से भी मुक्ति मिल गई है और वहीं उन्हें सिंचाई के लिये 3 फेज में बिजली आने का इंतजार भी नहीं करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें   खेती के समय घायल या मौत होने पर किसानों को दिया जाएगा इतना मुआवजा

नीमच जिले में 35 किसानों को सौर ऊर्जा पम्प की स्वीकृति देकर उनके खेत में सिंचाई पम्प लगाए गये हैं। अक्षय ऊर्जा अधिकारी बताते हैं कि 5 हार्स-पॉवर के सोलर पम्प इकाई की लागत करीब पौने 5 लाख रुपये है। इसमें 72 हजार रुपये किसान को जमा करने होते हैं, शेष राशि किसान को राज्य शासन से अनुदान के रूप में मिलती है।

स्त्रोत: जनसंपर्क विभाग, मध्यप्रदेश

यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश में सोलर पम्प पर मिल रहा है 90 प्रतिशत अनुदान

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री सोलर पम्प योजना मध्यप्रदेश सम्पूर्ण जानकारी

यह भी पढ़ें: उतरप्रदेश में 2 और 3 हार्सपावर के सोलर पम्प पर 75 प्रतिशत तथा 5 हार्सपावर के सोलर पम्प पर 50 प्रतिशत अनुदान योजना

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here