यहाँ दिए जा रहे हैं नि:शुल्क औषधीय पौधे

1863
medicinal plant distribution free

नि:शुल्क औषधीय पौधे का वितरण

औषधीय फसलों की खेती की देश में जरुरत तो ज्यादा है लेकिन इसकी खेती अभी भी कम मात्रा में होती है | इसकी खेती के लिए अभी भी जंगलों या फिर आदिवासियों के द्वारा ही किया जाता है | इसकी खेती में किसानों को कम खर्च में भी अधिक मुनाफा होता है परन्तु इसके कम प्रचार – प्रसार के करण किसानों के बीच जागरूकता कम है | औषधीय पौधा का सबसे बड़ा फायदा यह है की एक बार लगाने पर एक से अधिक वर्ष तक चलता है |

कहाँ किये जा रहा है औषधीय पौधे का वितरण

छत्तीसगढ़ सरकार औषधीय पौधा को बढ़ावा देने के लिए पौधों को नि:शुल्क वितरण कर रही है | यह सुविधा होम हर्बल योजना के तहत प्राप्त हो सकेगी | राज्य में इसकी अधिक संभावना होने के कारण इस योजना के तहत किसानों को औषधीय पौधा उपलब्ध कराया जा रहा है | छत्तीसगढ़ राज्य औषधीय पादप बोर्ड कार्यालय परिसर ने आज नि:शुल्क औषधीय पौधा वितरण की शुरुआत की गई |

यह भी पढ़ें   धान की सीधी बिजाई करने वाले किसानों को दिया जाएगा 1500 रुपए प्रति एकड़ का अनुदान

यह योजना पहले से ही चल रही है लेकिन इस वर्ष पुरे राज्य के 18 वनमंडलों (बिलासपुर, कोरबा, मरवाही, कटघोर, दुर्ग, कबीरधाम, रायपुर, राजनांदगाँव , गरियाबंद, मुंगेली, बलौदाबाजर, जांजगीर चांपा, सूरजपुर, अंबिकापुर, जशपुर, कोरिया, पश्चिम भानुप्रतापपुर एवं पूर्व भानुप्रतापपुर) में लगभग 25.00 लाख औषधीय पौधों का नि:शुल्क वितरण का लक्ष्य रखा गया है |

कौन – कौन सी पौधों को वितरण किया जायेगा ?

इस योजना के तहत आँवला, नीम, हर्रा, बहेड़ा, जामुन, निर्गुण्डी, बेल, तुलसी, एलोवेरा, ब्रह्मही, केवकंद , सतावर, मंडूकपर्णी एवं अन्य कई प्रकार के औषधीय पौधा शामिल है | रायपुर शहर में रायपुर वनमंडल, बोर्ड कार्यालय (0771-2522056/99818-35527) से सम्पर्क कर निःशुल्क औषधीय पौधे प्राप्त किया जा सकता है।

इस तरह की ताजा जानकरी विडियो के माध्यम से पाने के लिए किसान समाधान को YouTube पर Subscribe करें

पिछला लेखराजस्थान सरकार ने अपने किसानों को बजट में दी यह सौगातें
अगला लेखजल्द किसानों के बैंक खातों में सीधे दी जाएगी खाद (उर्वरक) सब्सिडी

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.