औषधीय एवं वाणिज्यिक फसलें

औषधीय एवं वाणिज्यिक फसलें

भारत में औषधीय एवं वाणिज्यिक फसलें मुख्य: नगदी फसले हैं | जो किसान को सीधे पैसा मोह्या करवाता है | इसके आलावा यह दलहनी , तेलहानी , सभी तरह के फसलों से ज्यादा मुनाफा देती है | कुछ फसल तो एक बार बोने पर कई वर्ष तक नहीं बुवाई करना पड़ता है | जितनी यह मूल्यवान फसल है उतना ही इसकी देखभाल करना जरुरी है इसलिए किसानों को इन फसलों के बारे में सही जानकारी रहना जरुरी है | किसानों की सहायता के लिए किसान समाधान सभी औतरह के षधीय एवं वाणिज्यिक फसलें की सही जानकारी लेकर आया है जो किसानों को जानना जरुरी है |

घृतकुमारी या एलोवेरा की उत्पादन तकनीक

 पान की खेती

सागौन की उत्पादन तकनीक

जटरोफा (रतनजोत )का उत्पादन

यूकेलिप्टस की उत्पादन तकनीक

गुलाब की खेती

ग्लेडियोलस की खेती

मशरुम उत्पादन तकनीकी

कटहल की कृषि उत्पादन तकनीकी

तुलसी की कृषि

तिखुर की खेती 

किनोवा की खेती

गमारी या सफ़ेद सागोन की खेती 

सफेद सिरस की खेती 

गुडमार की खेती

कालमेघ की खेती

अमलतास-फल की कृषि वानिकी

सतावर की खेती

नीम का वाणिज्यिक स्तर पर उत्पादन

रेशम उत्पादन के लिए शहतूत की कृषि

पशुओं के लिए उत्तम चारा- अर्जुन

बाँस उत्पादन की वैज्ञानिक कृषि वानिकी

गेंदा उत्पादन की  उन्नत  तकनीक

सफ़ेद मूसली की खेती