जानिए कब से शुरू होगी धान एवं अन्य खरीफ फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीद

10251
dhan makka bajra moongfali msp kharid

धान एवं अन्य खरीफ फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीद

खरीफ फसल की कटाई का कार्य कई राज्यों में शुरू किया जा चूका है | इसके साथ ही अलग-अलग राज्य सरकारों के द्वारा फसल खरीदी के लिए किसानों से पंजीकरण की व्यवस्था शुरू की जा चुकी है| धान तथा अन्य खरीफ फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी सितम्बर माह के अंतिम सप्ताह या अक्टूबर माह के प्रथम सप्ताह से शुरू कर दी जाएगी | हरियाणा सरकार ने खरीदी की संभावित तारीख एवं खरीदी केन्द्रों के विषय में जानकारी दी है |

हरियाणा में न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ या सरकारी खरीदी में वही किसान लाभ ले पाएंगे जिन किसानों “मेरी फसल, मेरा ब्योरा” पोर्टल पर पंजीयन किया है | इस वर्ष भी हरियाणा एवं अन्य राज्यों के किसान हरियाणा में अपनी फसल समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे |

कब शुरू होगी धान एवं अन्य खरीफ फसलों की खरीद

खरीफ सीजन 2021–22 के लिए खरीदी शुरू होने वाली है | अलग–अलग फसलों कि खरीदी शुरू करने के लिए अलग-अलग तारीखों का चयन किया गया है | धान की खरीदी 25 सितम्बर 2021 से शुरू होगी तथा यह खरीदी 15 नवम्बर 2021 तक की जाएगी | मक्का, बाजरा और मूंग की खरीदी 1 अक्टूबर से शुरू होगी और यह 15 नवंबर 2021 तक जारी रहेगी। इसी प्रकार मूंगफली की खरीद 1 नवंबर से की जाएगी और 31 दिसंबर 2021 तक जारी रहेगी।

यह भी पढ़ें   किसान उर्जा मित्र योजना के तहत 3 लाख 41 हजार से अधिक किसानों के बिजली बिल हुए शून्य

कितने खरीदी केंद्र बनाये गए हैं ?

सरकारी खरीदी को सुचारू रूप से चलाने के लिए सरकार ज्यादा से ज्यादा खरीदी कन्द्रों की स्थापना कर रही है | हरियाणा सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए खरीदी केन्द्रों की जानकारी दी है | धान के लिए 199 केंद्र, बाजरा खरीदी के लिए 86 केंद्र, मक्का की खरीदी के लिए 19 केंद्र, मूंगफली की खरीदी के लिए 7 केंद्र और मूंग की खरीदी के लिए 38 खरीदी केन्द्रों की स्थापना की गई है | इसके अलावा जरूरत पड़ने पर और ज्यादा खरीदी केंद्र बनाए जायेंगे |

7.5 लाख किसानों ने किया फसल बेचने के लिए पंजीकरण

किसानों से खरीफ फसलों की खरीदी केवल “मेरी फसल, मेरा ब्योरा” पोर्टल में पंजीकृत किसानों से ही खरीदा जाएगा | 31 अगस्त 2021 को खरीफ फसलों के पंजीयन के लिए पोर्टल बंद कर दिया गया था | इस बार हरियाणा के 22 जिलों के 7 लाख 50 हजार 949 किसानों ने 46 लाख 98 हजार 781 एकड़ भूमि के लिए पंजीयन कराया है | जबकि 88 लाख 92 हजार 329 एकड़ को कृषि योग्य संचयी क्षेत्र के रूप में पंजीकृत किया गया है | इस बार का पंजीयन 22 जिलों में लगभग 52.82 प्रतिशत है |

यह भी पढ़ें   17 दिसम्बर तक बकाया बिजली बिल जमा करने पर किसानों को नहीं देना होगा कोई पैनल्टी

इस बार का पंजीयन पिछले वर्ष के मुकाबले सभी फसलों में ज्यादा हुआ है | धान में 114 प्रतिशत, मक्का में 115 प्रतिशत, मूंग, अरहर, उड़द सहित अन्य खरीफ दलहन में 214 प्रतिशत, मूंगफली, तिल, अरंडी सही खरीफ तिलहनों में 222 प्रतिशत की वृद्धि हुई है | जबकि बागवानी में 319 प्रतिशत और चारा में 84 प्रतिशत की वृद्धि हुई है |

किस भाव पर होगी मंडियों में सरकारी खरीद ?

प्रत्येक वर्ष केंद्र सरकार रबी एवं खरीफ की 23 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करती है | इस वर्ष केंद्र सरकार के द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य इस प्रकार है:-

  • धान – 1940 रूपये प्रति क्विंटल
  • ज्वार – 2738 रूपये प्रति क्विंटल
  • बाजरा – 2250 रूपये प्रति क्विंटल
  • मूंगफली- 5550 रूपये प्रति क्विंटल
  • मूंग- 7275 रूपये प्रति क्विंटल
  • मक्का- 1870 रूपये प्रति क्विंटल
पिछला लेखसीएनजी से चलने वाले वाले ट्रैक्टर से किसानों को मिलेगी राहत: केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी
अगला लेखदेश के 50.2 प्रतिशत किसानों पर कर्ज का बोझ, प्रत्येक किसान परिवार पर है 74121 रुपये का कर्ज: NSO रिपोर्ट

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.