जानिए इस वर्ष कितना रह सकता है गेहूं एवं अन्य रबी फसलों का सरकारी भाव

6
11625
gehun avam anya rabi faslon ka bhav

रबी फसलों का अनुमानित समर्थन मूल्य

रबी फसल कि बुआई का समय आ गया है | देश के कई राज्य में गेंहूँ , सरसों, चना, मसूर इत्यादि फसलों कि बुआई शुरू होने वाली है | इस वर्ष बरसात अच्छी होने के कारण रबी फसल कि बुआई अधिक होने कि उम्मीद है | प्रत्येक वर्ष रबी फसल कि बुआई से पहले केंद्र सरकार के द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया जाता था लेकिन वर्ष 2019 – 20 का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित नहीं किया है | जबकि रबी के सभी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करने के लिए प्रस्ताव भेजा जा चूका है |

अभी तक रबी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित नहीं होने के कारण हरियाणा तथा महाराष्ट्र में होने वाले विधान सभा चुनाव है | इस समय इन दोनों राज्यों में आचार सहिंता लगी हुई है | पंजाब तथा हरियाणा राज्य मिलकर देश के कुल गेहूं खरीदी में 70 प्रतिशत का योगदान देते हैं |

इस वर्ष का न्यूनतम समर्थन मूल्य इस प्रकार रहने कि उम्मीद है 

इकोनामिक टाईम्स के अनुसार कृषि मंत्रालय ने प्रस्ताव तैयार कर लिया है जिसे नवम्बर में कैबिनेट कि मंजूरी के लिए रखा जायेगा | जिसके बाद अधिसूचना जारी कर दिया जायेगा |

यह भी पढ़ें   कोरोना लॉकडाउन में किसानों को फसल बेचने एवं अन्य सहायता के लिए सरकार ने जारी किये टोल फ्री नम्बर

प्रस्ताव के अनुसार गेहूं का समर्थन मूल्य 1840 रूपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर के 1925 रूपये किये जायेंगे | केंद्र सरकार तेलहन तथा दलहन की उत्पादन बढ़ाने के लिए जोर दे रही है | इस वर्ष सरसों का मूल्य 4200 रूपये प्रति क्विंटल से बढाकर 4425 रुपया प्रति क्विंटल किया जा सकता है | वहीं दलहन में मसूर कि कीमत 4475 रूपये से बढाकर 4800 रूपये प्रति क्विंटल किया जा सकता है | जौ की कीमत 1440 से बढ़ाकर के 1525 रूपये प्रति क्विंटल तथा सूरजमुखी की कीमत 4925 रूपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर के 5215 रूपये की जा सकती है |

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here