झारखण्ड बजट 2020-21:जानिए किसानों को क्या-क्या मिला

22
9726
jharkhand agriculture budget

कृषि एवं सम्बंधित क्षेत्र हेतु बजट 2020-21

केंद्र सरकार के द्वारा पेश किये केन्द्रीय बजट के बाद देश की अलग–अलग राज्य सरकारों के द्वारा वित्त वर्ष 2020–21 के लिए बजट पेश करेंगी | अभी उत्तरप्रदेश एवं राजस्थान, छत्तीसगढ़ सरकार ने इस वित्तीय वर्ष के लिए अपने बजट पेश कर दिए हैं | इस बजट में किसानों के लिए की गई घोषणा तथा नई योजनाओं की जानकारी किसान समाधान लेकर आया है |

झारखंड राज्य का वित्त वर्ष 2020–21 का बजट आ गया है | इस बजट में किसानों के लिए बहुत सी नई योजनों की शुरुआत की गई है साथ की कुछ पुरानी योजनाये बंद भी की गई है एवं कुछ योजनों को जारी रखा गया है | बजट में किसानों के लिए नई योजना में “अल्पकालीन कृषि ऋण राहत योजना” है | झारखण्ड सरकार ने अपने बजट में किसानों का बहुत अधिक ध्यान रखा है | बजट को लेकर झारखण्ड के मुख्यमंत्री ने कहा की यह “गरीबोंन्मुखी प्राथमिकता और सोच को स्पष्ट करता मेरी सरकार का यह पहला बजट गरीब, किसान और बेरोजगार युवाओं को समर्पित है। स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार और पर्यटन को केंद्र में रखकर हम नए झारखण्ड की नींव रखेंगे।“

यह भी पढ़ें   किसानों की आय बढ़ाने के लिए दिए जाएंगे टिश्यू कल्चर पद्धति से तैयार सागौन पौधे

कृषि एवं सम्बंधित क्षेत्र हेतु बजट 2020-21

  1. किसानों के लिए सरकार द्वारा अल्पकालीन कृषि ऋण राहत योजना शुरू की गई है | आगामी वित्त वर्ष 2020-21 में इस्मने राशि 2,000 करोड़ रुपये का बजटीय उप्बंद प्रस्तावित है |
  2. धान की उत्पादकता को बढ़ावा देने एवं किसनों को प्रोत्साहन करने के लिए धान उत्पादन एवं बाजार सुलभता नाम की योजना की शुरूआत किया जा रहा है | इसके लिए राज्य सरकार ने 200 करोड़ रुपया जारी किया है |
  3. किसानों को कृषि यंत्र सब्सिडी के लिए वित्त वर्ष 2020–21 के लिए 50 करोड़ रुपये जारी किया गया है |
  4. किसानों के लिए पहले चले रहे फसल बीमा योजना में बदलाव किया गया है | यह बदलाव खरीफ सीजन 2020 से किया गया है | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कि स्थान पर अब राज्य में झारखंड राज्य किसान राहत कोष सृजित किया जा रहा है | इसके लिए वित्त वर्ष में 100 करोड़ रुपये जारी किये गए है |
  5. राज्य के विभिन्न जिलों में भंडारण के लिए शीत–गृह का निर्माण किया जाएगा | इसके लिए 30 करोड़ रुपये जारी किया गया है |

पशुपालन एवं मछली पालन हेत बजट 2020-21

  • राज्य में पशुओं के स्वास्थ्य के लिए चलायी जा रही योजना एम्बुलेंस सुविधा को बंद किया जा रहा है | इसके स्थान पर उन्नत डायग्नोस्टिक एवं अन्य परीक्षण प्रयोगशाला का अधिष्ठापन करने की नई योजना प्रारंभ की जाएगी | इसके साथ ही मोबाईल पशु चिकित्सा क्लिनिक शुरू करने का भी प्रस्ताव है |
  • महिलाओं के आर्थिक उन्नयन हेतु 90 प्रतिशत अनुदान पर दुधारू गाय वितरण योजना को अब APL परिवारों से भी जोड़ा जायेगा |
  • कामधेनु डेयरी, फार्मिंग योजना के तहत प्रगतिशील दुग्ध उत्पादक परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करने, अनुदानित ड्रोन पर चारा काटने की मशीन एवं संतुलित पशु आहार उपलब्ध करने की योजना है |
  • मत्स्य पालन के लिए किसानों को प्रशिक्षण दिया जाएगा | इस प्रक्षेत्र में इच्छुक लोगों को प्रशिक्षण के साथ – साथ मत्स्य विपन्न योजना तहत स्टाल ऑटो रिक्शा, मोबाईल रिटेल किओस्क अनुदानित दर पर उपलब्ध करने की योजना है | वर्ष 2020 – 21 में 2.35 लाख मीट्रिक टन मत्स्य उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है |
यह भी पढ़ें   प्रदेश में 2 लाख 68 हजार दुग्ध उत्पादकों को दिए जाएंगे किसान क्रेडिट कार्ड

झारखण्ड बजट 2020-21 की पूरी जानकारी के लिए क्लीक करें

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

22 COMMENTS

    • किस राज्य से हैं आप ? अपने यहाँ के पशु चिकित्सालय या जिले के पशु पालन विभग में सम्पर्क कर आवेदन करें |

  1. मुझे सिंचाई की सुविधा हेतु अनुदानित दर पर बिजली पंप CRI कंपनी की चाहिए।

    • प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत अपने यहाँ के कृषि विभाग से आवेदन करें |

    • जी अपने जिले के कृषि विभाग या उद्यानिकी विभाग से आवेदन करें

    • अपने जिले के कृषि विभाग या ब्लॉक में सम्पर्क करें |

    • अपने जिले के कृषि विभाग/उध्यानिंकी विभाग अथवा सिंचाई विभाग में सम्पर्क करें |

    • जी अपने जिले के कृषि विभाग से सम्पर्क कर आवेदन करें

      • सर सोलर पम्प या बिजली वाला पम्प ? अपने जिले के कृषि विभाग में सम्पर्क कर आवेदन करें |

    • जी प्रोजेक्ट बनाएं | अपने जिले या ब्लाक के पशु पालन विभाग या पशु चिकित्स्लय में सम्पर्क करें |

    • जिस बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड बनवाया है वहां से लें |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.