back to top
मंगलवार, अप्रैल 16, 2024
होमकिसान समाचारअब तक 13 लाख से अधिक किसानों को खेती किसानी के लिए...

अब तक 13 लाख से अधिक किसानों को खेती किसानी के लिए दिया गया बिना ब्याज का कृषि ऋण

कृषि ऋण वितरण खरीफ 2023

खेती में निवेश जैसे खाद, बीज, रासायनिक दवा आदि के लिए किसानों को पूँजी की आवश्यकता होती है। सरकार किसानों को यह पूँजी कम ब्याज दरों पर किसान क्रेडिट कार्ड एवं अन्य योजनाओं के तहत बैंक से उपलब्ध कराती है। वहीं कुछ राज्य सरकारों के द्वारा समय पर चुकाने वाले किसानों को सहकारी बैंक के माध्यम से लिए गए इस ऋण पर अतिरिक्त ब्याज सब्सिडी उपलब्ध कराई जाती है। जिससे किसानों को यह ऋण बिना किसी ब्याज के उपलब्ध हो जाता है।

इस कड़ी में छत्तीसगढ़ सरकार ने इस वर्ष ख़रीफ़ सीजन के लिए किसानों को 6100 करोड़ रुपये का ऋण देने का लक्ष्य रखा था जो अब लगभग पूर्ण होने वाला है। राज्य में खरीफ 2023 के लिए किसानों को 5 अगस्त तक 6067 करोड़ 27 लाख 60 हजार रुपये का अल्पकालीन कृषि ऋण खेतीकिसानी के लिए दिया जा चुका है।

इस वर्ष 6100 करोड़ रुपये का ऋण देने का है लक्ष्य

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा दिए जाने वाले इस बिना ब्याज के कृषि ऋण का लाभ 13 लाख 62 हजार 42 किसानों को मिला है। किसानों को दी गई ऋण राशि इस साल के लिए निर्धारित 6100 करोड़ रुपए का 99.46 प्रतिशत है। जबकि पिछले वर्ष 5 अगस्त तक राज्य के 12 लाख 20 हजार 317 किसानों ने 4883 करोड़ 80 लाख 59 हजार रुपए का ऋण लिया था। खरीफ सीजन 2022 में राज्य के किसानों ने कुल 5563 करोड़ 60 लाख रुपए का कृषि ऋण लिया था।

यह भी पढ़ें   29 से 31 जलाई के दौरान बिहार एवं झारखंड राज्य के इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश

इन जिलों के किसानों ने लिया सबसे अधिक ऋण

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में अब तक खरीफ के लिए बलोदाबाजारभाटापारा जिले के सर्वाधिक 1,08,059 किसानों ने कृषि ऋण लिया है। बालोद जिला ऋण लेने वाले किसानों के मान से दूसरे नंबर पर है, इस जिले के 1,07,107 किसानों ने कृषि ऋण लिया है। बेमेतरा जिले के किसान ऋण लेने के मामले में तीसरे नंबर पर है, यहां के 99,076 किसानों ने ऋण लिया है।

वहीं रायपुर जिले में 64286, गरियाबंद में 42768, महासमुंद में 75154, धमतरी में 58409, दुर्ग में 70716, राजनांदगांव में 91490, कबीरधाम में 82080, खैरागढ़ में 40500, मानपुरमोहलाचौकी में 35831, जगदलपुर में 27209, कोण्डागांव में 26845, नारायणपुर में 4611, कांकेर में 60244, दंतेवाड़ा में 2246, सुकमा में 7375, बीजापुर में 11206, बिलासपुर में 55596, गौरेलापेण्ड्रामरवाही में 5830, मुंगेली में 32960, जांजगीरचांपा में 34137, सक्ती में 30109, कोरबा में 16545, सरगुजा में 36565, बलरामपुर में 18670, सूरजपुर में 33767, कोरिया में 13819, मनेन्द्रगढ़ में 7185, रायगढ़ में 28896, सारंगढ़ में 19305 तथा जशपुर जिले में 13446 किसानों ने अब तक अल्पकालीन कृषि ऋण अपने इलाके के सहकारी बैंकों से लिया है।

यह भी पढ़ें   सरकार ने लांच किया यूरिया गोल्ड, जानिए क्या है यूरिया गोल्ड और इसके फायदे

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबरें

डाउनलोड एप