सरकार ने कोपरा के न्यूनतम समर्थन मूल्य में की 439 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि

0
1085
kopra samarthan mulya 2020

कोपरा न्यूनतम समर्थन मूल्य 2020

सरकार के द्वारा हर वर्ष मुख्य फसलों के आलावा कोपरा एवं गन्ने के समर्थन मूल्य की भी घोषणा की जाती है | सरकार के द्वारा वर्ष 2020 के लिए कोपरा फसल के लिए समर्थन मूल्य की घोषणा कर दी गई है | सरकार ने इस वर्ष मिलिंग कोपरा के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 439 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की है वहीँ बॉल कोपरा के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 380 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की है |

क्या रहेगा इस वर्ष कोपरा का न्यूनतम समर्थन मूल्य

अच्‍छी औसत गुणवत्‍ता (एफएक्‍यू) के मीलिंग खोपरा का न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य 2020 सीजन के लिए बढ़ाकर 9,960 रूपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है, जबकि 2019 में इसका न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य 9,521 रूपये प्रति क्विंटल था। 2020 सीजन के लिए बाल खोपरा का समर्थन मूल्‍य बढ़ाकर 10,300 रूपये प्रति क्विंटल किया गया, जबकि 2019 में यह 9,920 रूपये प्रति क्विंटल था। इससे उत्‍पादन की अखिल भारतीय भारित औसत लागत के मुकाबले मीलिंग खोपरा के लिए 50 प्रतिशत और बाल खोपरा के लिए 55 प्रतिशत का लाभ सुनिश्चित होगा ।

यह भी पढ़ें   किसानों एवं विपक्षी दलों के विरोध के बीच संसद में पास हुए कृषि उपज सम्बंधित विधेयक

कृषि लागत एवं मूल्‍य आयोग (सीएसीपी) के अनुमोदन पर आधारित

2020 सीजन के लिए खोपरा के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍यों में यह बढ़ोतरी उत्‍पादन की अखिल भारतीय भारित औसत लागत से कम से कम डेढ़ गुणा स्‍तर पर न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य निर्धारित करने के सिद्धांत के अनुरूप है, जिसकी घोषणा सरकार ने 2018-19 के बजट में की थी। यह वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी संभव बनाने की दिशा में एक महत्‍वपूर्ण और विकासात्‍मक कदमों में से एक हैं क्‍योंकि यह कम से कम 50 प्रतिशत लाभ के मार्जिन  का आश्‍वासन देता है। भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ मर्यादित (नाफेड) और भारतीय राष्‍ट्रीय उपभोक्‍ता सहकारी संघ मर्यादित (एनसीसीएफ) नारियल उत्‍पादक राज्‍यों में न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य पर मूल्‍य समर्थन संचालन शुरू करने के लिए केंद्रीय नोडल एजेंसियों के रूप में काम करना जारी रखेंगे।

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here