back to top
28.6 C
Bhopal
रविवार, जून 23, 2024
होमकिसान समाचारकिसान ट्रांसफार्मर परिवर्तन योजना: अब किसान की शिकायत पर 6 घंटे...

किसान ट्रांसफार्मर परिवर्तन योजना: अब किसान की शिकायत पर 6 घंटे में बदलेगा जला हुआ ट्रांसफार्मर

किसान ट्रांसफार्मर परिवर्तन योजना: अब किसान की शिकायत पर 6 घंटे में बदलेगा जला हुआ ट्रांसफार्मर

किसानों को अब ट्रांसफार्मर जलने पर महीनो इंतज़ार नहीं करना होगा राजस्थान में 15 अगस्त, 2018 से किसान ट्रांसफार्मर परिवर्तन योजना लागू की जाएगी। जयपुर डिस्कॉम के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक श्री आर.जी.गुप्ता ने बताया कि किसान ट्रांसफार्मर परिवर्तन योजना को लागू करने के लिए यह निर्णय लिया गया है कि 15 अगस्त से कृृषि उपभोक्ताओं द्वारा बिजली मित्र ऎप या उपभोक्ता सेवा केन्द्र पर जले हुए ट्रांसफार्मर की शिकायत दर्ज कराने पर जले हुए ट्रांसफार्मर को बदला जाएगा।

इसके साथ ही यह भी निर्णय लिया गया है कि 15 अगस्त से पहले के लम्बित जले हुए ट्रांसफार्मरों को पूर्व निर्धारित नीति के अनुसार अधीक्षण अभियन्ता-ओ एण्ड एम द्वारा बदलना सुनिश्चित किया जाएगा। उपभोक्ता द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत सत्यापन में गलत पाई जाती है तो इस तरह की शिकायत को रद् करने हेतु सम्बन्धित अधिशाषी अभियन्ता- ओ एण्ड वी को अधिकृृत किया गया है। इसके साथ ही ट्रांसफार्मर चोरी होने व ट्रांसफार्मर के मीटर बॉक्स की वैल्डिंग टूटी पाए जाने के प्रकरण में भी अधिशाषी अभियन्ता- ओ एण्ड वी द्वारा सत्यापन एवं पूर्ण संतुष्टि के बाद ही नियमानुसार ट्रांसफार्मर बदला जाएगा।

यह भी पढ़ें   चना और सरसों की तुलाई में वजन और नमी को लेकर राजफैड ने कही यह बात

अधिशाषी अभियन्ता- ओ एण्ड वी, फीडर इंचार्ज के द्वारा मीटर रीडिंग अवधि के दौरान व अन्य माध्यमों से कृृषि उपभोक्ताओं को बिजली मित्र ऎप को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करेंगे और उपभोक्ता सेवा केन्द्र के माध्यम से भी बिजली मित्र ऎप को डाउनलोड करने की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।

किसानों को क्या होगा फायदा

योजना के लागू होने के बाद किसानों के ट्रांसफार्मर लगभग 6 घंटे में बदले जा सकेगें और पुराने ट्रांसफार्मर भी स्टोर में तुरन्त जमा हो सकेगे, जबकि कृृषि कनेक्शन नीति 2017 के अनुसार कृृषि उपभोक्ता द्वारा जले ट्रांसफार्मर की शिकायत 33/11 केवी. सब-स्टेशन पर संधारित शिकायत पुस्तिका में दर्ज कराने के उपरान्त सामान्य परिस्थितियों में जले/खराब ट्रांसफार्मर को 72 घंटे में बदले जाने का प्रावधान है। जयपुर डिस्कॉम में 4 लाख कृृषि उपभोक्ता है और यह योजना केवल किसानों के लिए है। इसके लिए डिवीजन स्तर पर औसत बर्निंग दर के अनुसार ट्रांसफार्मर का रिजर्व स्टाक रखा जाएगा, जिससे शिकायत प्राप्त होते ही ट्रांसफार्मर को बदला जा सके।

यह भी पढ़ें   पौधों को जमीन के पास से काटकर नुकसान पहुंचाता है कटुआ कीट, किसान ऐसे करें इसका नियंत्रण

2 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबर