कोरोना संकट: एक महीने में किसानों दिए जाएंगे फसल बीमा के 700 करोड़ रुपये, होगा खरीफ फसलों के बीजों का वितरण

6
28093
fasal bima bhugtan avam beej vitran

फसल बीमा का भुगतान एवं खरीफ फसल के बीज

सम्पूर्ण देश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉक डाउन चल रहा है | वैसे तो इसका असर देश के सभी लोगो को प्रभावित कर रहा है परन्तु इससे किसानों को भी इसके चलते नुकसान हो रहा है | जिसे देखते हुए सरकारें जल्द ही किसानों को राहत पहुँचाने के लिए कदम उठा रही है | लॉक डाउन के चलते किसानों की रबी फसलों एवं आने वाली खरीफ फसल का काम किसान सही पर कर पायें  इसके लिए सरकार किसानों को लॉक डाउन में छूट भी दे रही है |

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कोरोना महामारी के कारण आए संकट से किसानों, उद्योगों एवं आमजन को संबल प्रदान करने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। जैसे किसानों को फसल बीमा राशी का भुगतान, आर्थिक रूप से कमजोर लघु एवं सीमांत किसानों को कृषि कार्यों में आ रही कठिनाई को देखते हुए इन किसानों को कृषि यंत्र निर्माता कम्पनियों से समन्वय कर फसल कटाई, थ्रेसिंग एवं अन्य कृषि गतिविधियों के लिए निशुल्क ट्रैक्टर एवं कृषि यंत्र किराए पर उपलब्ध करवाए जाना है।

एक माह में किया जाएगा फसल बीमा का भुगतान किया जाएगा

राज्य सरकार किसानों की परेशानी को देखते हुए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में अगले एक माह में 700 करोड़ रूपए के प्रीमियम का भुगतान और करेगी, ताकि खरीफ-2019 तक के पूर्ण राज्यांश प्रीमियम का भुगतान हो सके और किसानों को लंबित क्लेम का भुगतान हो सके। पिछले एक वर्ष में राज्य सरकार प्रीमियम के रूप में 2034 करोड़ रूपए का भुगतान कर चुकी है। 

मक्का के संकर बीज दिए जाएंगे फ्री में

किसानों को कोरोना संकट में राहत देने के लिए अनुसूचित जनजाति क्षेत्र के 5 लाख किसानों को 5 किलोग्राम की दर से निशुल्क संकर मक्का बीज के मिनिकिट वितरित किए जाएंगे। इस पर करीब 25 करोड़ रूपए का व्यय होगा।

किसानों को बाजार के बीज दिए जाएंगे मुफ्त में

राज्य के प्रमुख बाजरा उत्पादक जिलों के 10 लाख लघु एवं सीमांत किसानों को 0.4 हैक्टेयर क्षेत्र तक के लिए प्रति कृषक 1 किलो 500 ग्राम के संकर बाजरा बीज के मिनिकिट निशुल्क वितरित किए जाएंगे। इस पर करीब 30 करोड़ रूपए का व्यय होगा।

किसानों को दिया जायेगा 25 प्रतिशत अधिक ऋण

प्रदेश में 16 अप्रेल से प्रारम्भ होने वाले खरीफ फसली ऋण के तहत किसानों को 25 प्रतिशत ऋण बढ़ाकर दिया जाएगा। इस प्रकार खरीफ 2020 में करीब 8 हजार करोड़ रूपए का ऋण वितरित होगा। बढ़ी हुई राशि का लाभ प्रदेश के करीब 20 लाख किसानों को मिलेगा।

आर्थिक रूप से कमजोर लघु एवं सीमांत किसानों को कृषि कार्यों में आ रही कठिनाई को देखते हुए इन किसानों को कृषि यंत्र निर्माता कम्पनियों से समन्वय कर फसल कटाई, थे्रसिंग एवं अन्य कृषि गतिविधियों के लिए निशुल्क टै्रक्टर एवं कृषि यंत्र किराए पर उपलब्ध करवाए जाएंगे।

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

6 COMMENTS

  1. राजस्थान सरकार जिला जोधपुर समर्थन मूल्य खरीद लोकडावन को ध्यान में रखते हुए यानि कोरोना संकट होने के कारण कानूनी प्रतिक्रिया को ध्यान में रखते हुए किसानों की खरीद को सरकार नवनीत प्रक्रिया के दौरान किसान की खरीद शुरू करे माननीय मुख्यमंत्री जी श्रीमान अशोक गहलोत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here