सोमवार, फ़रवरी 26, 2024
होमकिसान समाचारCG Budget 2024: सरकार ने बजट में किसानों के लिए खोला खजाना,...

CG Budget 2024: सरकार ने बजट में किसानों के लिए खोला खजाना, किसानों के लिए किए यह ऐलान

छत्तीसगढ़ कृषि बजट 2024

उत्तर प्रदेश, राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ सरकार ने भी आज यानि कि 9 फरवरी के दिन अपना बजट पेश कर दिया है। छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से यह बजट राज्य के वित्त मंत्री ओपी चौधरी के द्वारा पेश किया गया। वित्त मंत्री ओपी चौधरी के द्वारा पेश किया जाने वाला यह बजट पेपर लेस है और छत्तीसगढ़ के इतिहास का पहला डिजिटल बजट है। सरकार ने इस वर्ष अपने बजट में 1.47 लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। बजट में सरकार ने किसानों के लिए कई घोषणाएँ की है।

बजट पेश करते हुए सरकार ने किसानों के लिए खजाना खोल दिया है। बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में किसान एवं भूमिहीन कृषि मज़दूरों की स्थिति में सुधार के लिए कृषि एवं सहायक गतिविधियों जैसे उद्यानिकी, पशुपालन, मछली पालन को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग के बजट में पिछले वर्ष की तुलना में 33 प्रतिशत की वृद्धि करते हुए कुल 13 हजार 438 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

यह भी पढ़ें   अब आसानी से शुरू कर सकेंगे पशुपालन क्षेत्र में अपना बिजनेस, सरकार ने पशुपालन अवसंरचना कोष को दी मंजूरी

बजट में की गई मुख्य घोषणाएँ

  • सरकार ने अपने बजट 2024-25 के लिए कृषि उन्नति योजना के लिए 10 हजार करोड़ का प्रावधान किया है।
  • किसानों को सहकारी एवं ग्रामीण बैंक से ब्याज मुक्त कृषि ऋण उपलब्ध कराने के लिए 08 हजार 500 करोड़ की साख सीमा निर्धारित की गई है। इस राशि पर ब्याज अनुदान के लिए 317 करोड़ रुपये का प्रावधान बजट में किया गया है।
  • वहीं सिलफिली जिला सूरजपुर एवं रायगढ़ में शासकीय उद्यानिकी एवं वानिकी महाविद्यालय, कुनकुरी जिला जशपुर में कृषि व्यवसाय प्रबंधन महाविद्यालय एवं अनुसंधान केंद्र, रामचंद्रपुर ज़िला बलरामपुर में पोस्ट हार्वेस्ट मैनेजमेंट एवं प्रोसेसिंग टेक्नोलॉजी महाविद्यालय तथा खड़गवाँ जिला मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर में कृषि महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी।
  • प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना अन्तर्गत ग्राम सतरेंगा जिला कोरबा में एक्वा पार्क की स्थापना की जायेगी। इसके लिए बजट में 05 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
  • कृषि में आधुनिक उपकरणों के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए कृषि अभियांत्रिकी संचालनालय की स्थापना एवं राज्य स्तरीय नई कृषि यंत्र परीक्षण प्रयोगशाला के भवन निर्माण हेतु प्रावधान किया गया है।
  • दुर्ग एवं सरगुजा जिले में कृषि यंत्री कार्यालय की स्थापना की जाएगी।
  • रासायनिक उर्वरकों की जाँच के लिए सरगुजा जिले में गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला की स्थापना की जाएगी।
  • उद्यानिकी को बढ़ावा देने के लिए 14 विकासखंडों में नई नर्सरी की स्थापना की जाएगी एवं पूर्व से संचालित 20 नर्सरियों में अतिरिक्त पद सृजित किए जाएँगे।
  • पशु औषधालय कुंवारपुर एवं माड़ीसराई जिला मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर एवं पशु औषधालय कोल्हेनझरिया ज़िला जशपुर का पशु चिकित्सालय में उन्नयन का प्रावधान किया गया है।
  • ग्राम भोरिंग जिला महासमुंद, ग्राम चरोदा जिला-सक्ती, ग्राम किरगी जिला राजनांदगाँव, ग्राम खैरवाना जिला मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर तथा ग्राम मटासी जिला जशपुर में नवीन हेचरी की स्थापना की जायेगी। इसके लिए सरकार ने बजट में 01 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।
  • सहकार से समृद्धि के दृष्टिकोण को साकार करने के लिए सरकार ने 100 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों में खाद एवं बीज भंडारण हेतु गोदाम निर्माण के लिए 26 करोड़ का प्रावधान किया गया है।
यह भी पढ़ें   सरकारी योजना का लाभ लेकर मछली पालन से इस किसान ने अपनी आय की दोगुनी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

Trending Now

डाउनलोड एप