पशुओं के लिए यूरिया अमोनियाकृत नीम की खली

0
786
views

पशुओं के लिए यूरिया अमोनियाकृत नीम की खली

नीम की खली, नीम तेल उधोग का एक प्रोटीन से भरपूर उपोत्पाद है और आसानी से उपलब्ध है | अभी तक इसका केवल उर्वरक एवं कीटनाशी के रूप में उपयोग किया जाता रहा है | खली में कडुए एवं विषाक्त ट्राइटरपीनायड्स की उपस्थिति के कारण खली का इस रूप में पशुओं को खिलाने में उपयोग नहीं किया जाता था | इसके साथ ही जब भी कभी नीम की खली खिलाई जाती है ,यह खाने में अप्रिये होने के अतिरिक्त पशुओं के लिए हानिकारक भी होती है | यह उनकी वृद्धि ,नर पशुओं के जनन अंग तथा उनकी समग्र कार्य क्षमता को प्रभावित करती है | भारतीय पशुचिकित्सा अनुसंधान संस्थान, इज्जतनगर ने खली को उर्वरक श्रेणी की यूरिया से उपचारित करने और पशुओं की विभिन्न प्रजातियों के लिए सन्द्रिक मिश्रण के रूप में पारम्परिक खली को पौष्टिक विकल्प के रूप में परिवर्तित करने की प्रौधोगिकी विकसित की है  |

यह भी पढ़ें   इसे अपनाये और अपने पशु का दूध उत्पादन बढायें |

आवश्यक सामग्री

  • उर्वरक श्रेणी का यूरिया
  • नीम की खली

तैयार करने की प्रक्रिया

  • 5 कि.ग्रा./ किवंटल निम् की खली की दर से उर्वरक श्रेणी यूरिया लें |
  • उर्वरक श्रेणी की यूरिया के घोल (2.5% w/w) से युकत एक वायुरोधी बर्तन में, नीम की खली को 5 से 6 दिन तक भिगोंए (1 भाग नीम की खली : 1.2 भाग यूरिया का घोल) और बीच – बीच में इसे हिलाते रहें |
  • भीगी हुई खली को धूप में सुखएं और विभिन्न प्रजातियों के पशुओं के लिए सान्द्रित मिश्रण में मिलाने के लिए इसे पिसें |
  • लाभ यूरिया अमोनिया, धूप में सुखाकर पीसी गयी निम् की खली गोपशुओं और भैंस के बछड़ों, बढ़ते मेमनों और ब्रायलर मुर्गियों तथा खरगोशों के लिए उपयुक्त आहार है और इसमे कोई हानिकारक प्रभाव भी नहीं होते हैं |
  • यूरिया अमोनियाकृत नीम की खली, पशुओं के आहार के लिए महंगे तथा कम सुलभ सब्जी प्रोटीन आहार के स्थान पर पौष्टिक प्रोटीन युकत आहार प्रदान करती है |
यह भी पढ़ें   अच्छी नस्ल के दुधारू पशु किसान भाई कहाँ से खरीद सकते हैं ?

आर्थिकी

पशुओं के लिए सान्द्रिक मिश्रण में प्रयुक्त पारम्परिक खली की लागत 30 से 45 % तक कम करने के अतिरिक्त, यह प्रोटीन युकत आहार की कमी को दूर करके दुर्लभ और महंगे खली की मांग और आपूर्ति की समस्या पर काबू पाने में सहायक है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here