सौर सुजला योजना के तहत 1 लाख से अधिक किसानों को दिए गए सोलर पम्प

11
9325
solar pump subsidy cg

सब्सिडी पर सोलर पम्प की स्थापना

किसान वर्ष में एक से अधिक फसल लेकर अपनी आमदनी बढ़ा सके इसके लिए सिंचाई की व्यवस्था होना आवश्यक है | इसके लिए सरकार दूर-दराज क्षेत्रों में सिंचाई की व्यवस्था करने के लिए किसानों को सब्सिडी पर सोलर पम्प उपलब्ध करा रही है | छत्तीसगढ़ सरकार  राज्य के किसानों को सब्सिडी पर सोलर पम्प उपलब्ध करने के लिए सौर सुजला योजना चला रही है | योजना के अंतर्गत अब तक एक लाख से अधिक किसानों के खेतों में सिंचाई के लिए पानी की व्यवस्था की जा चुकी है। इनमें नक्सल प्रभावित और आदिवासी क्षेत्रों के हजारों किसान भी शामिल हैं।

एक लाखवें किसान को किया गया सम्मानित

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने गणतंत्र दिवस पर जगदलपुर में योजना के एक लाखवें हितग्राही श्री सुरेन्द्र नाग को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया। क्रेडा (CREDA – छत्तीसगढ़ अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण) द्वारा सौर सुजला योजना के तहत बस्तर जिले के किसान श्री नाग की कृषि भूमि में एक लाखवां सोलर पंप स्थापित किया गया है। मुख्यमंत्री ने उन्हें सोलर पंप का कट-आउट प्रदान कर योजना की सफलता को रेखांकित किया।

राज्य में सोलर पम्प से 1.20 लाख हेक्टेयर में हो रही है सिंचाई

प्रदेश में कृषि भूमि की सिंचाई क्षमता में वृद्धि और अविद्युतीकृत क्षेत्रों में कृषि का सिंचित रकबा बढ़ाने के लिए क्रेडा द्वारा सौर सुजला योजना संचालित की जा रही है। इसके अंतर्गत कृषि भूमि में तीन और पांच हॉर्स-पॉवर क्षमता के सोलर पम्प स्थापित किए जा रहे हैं। कृषि भूमि के साथ ही योजना के माध्यम से राज्य शासन की महत्वाकांक्षी नरवा, गरवा, घुरवा, बारी कार्यक्रम के अंतर्गत गौठानों, चारागाहों और पंजीकृत गौशालाओं में भी सोलर पम्प लगाए जा रहे हैं। योजना के तहत प्रदेश भर में स्थापित सोलर पंपो से एक लाख 20 हेक्टेयर कृषि भूमि में सिंचाई हो रही है। इससे पिछले पांच वर्षों में करीब छह लाख 55 हजार टन कार्बन उत्सर्जन में कमी हुई है।

यह भी पढ़ें   किसानों को अभी नहीं दी जाएगी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की राशि

क्या है सौर सुजला योजना

सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) का मुख्य उद्देश्य रियायती दरों (subsidized rates) पर उन्हें सौर सिंचाई पंप (Solar Irrigation Pumps) प्रदान करके किसानों को सशक्त बनाना है | इस योजना से न केवल किसान अपनी भूमि पर खेती करने के लिए अधिक सक्षम होंगे बल्कि इस योजना के तहत ग्रामीण छत्तीसगढ़ में कृषि और ग्रामीण विकास को मजबूत बनाने में भी मदद मिलेगी |सौर सुजला योजना के तहत सरकार क्रमश: 3HP और 5HP क्षमता वाले सौर ऊर्जा संचालित सिंचाई पंपों (Solar Irrigation Pumps) को किसानों को वितरित करेगी |

सोलर पम्प पर दिया जाने वाला अनुदान

सौर सुजला योजना (Saur Sujala Yojana) के तहत ये सोलर पंप (Solar Pump) किसानों को रियायती दरों (subsidized rates) पर उपलब्ध कराये जायेंगे | 5HP सोलर पंप (Solar Pump) की रियायती कीमत लगभग 10,000- 20,000 होगी जो इस समय निश्चित नही है | वहीँ काम क्षमता वाले 3HP सोलर पंप (Solar Pump) की बाजार में कीमत 3.5 लाख है | ये सोलर पंप (Solar Pump) योजना के तहत योग्य किसानों को 7,000- 18,000 की रियायती कीमत पर प्रदान किये जायेंगे |

यह भी पढ़ें   अब किसानों को इस फसल के नुकसान पर दिया जाएगा 40 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर तक का मुआवजा

सौर सुजला योजना के तहत यहाँ करें ऑनलाइन आवेदन

इस को योजना छत्तीसगढ़ सरकार के ऊर्जा विभाग के अधीन CREDA (Chhattisgarh State Renewable Energy Development Agency) द्वारा लागू किया जा रहा है | योजना के तहत लाभार्थियों का चयन राज्य सरकार के कृषि विभाग द्वारा किया जाएगा | किसान जो पहले से ही बोरवेल या पंप योजना के तहत लाभान्वित है वो भी इस योजना के लिए पात्र होंगे | इस योजना के लाभार्थियों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार का कृषि विभाग मुख्य पंजीयन प्राधिकरण है | किसान आवेदन करने के लिए मुक्त है पर रियायती दरों में सोलर पंप बांटने के लिए योग्य पात्रों को चयन कृषि विभाग द्वारा किया जायेगा | इस योजना के लिए आवेदन पत्र ब्लॉक कार्यालयों और कृषि कार्यालयों में उपलब्ध है | आवेदन को ठीक से भर कर आवश्यक दस्तावेजों के साथ केवल कृषि कार्यालयों में प्रस्तुत करना होगा |

सौर सुजला योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए क्लिक करें

11 COMMENTS

  1. सर जी, मै अपने खेत में सौर सुजला योजना के तहत, सौर प्लेट लगवाना चाहता हू आवेदन कहाँ करू ,मै छतीसगढ से हूँ

    • http://www.creda.in दी गई लिंक पर जानकारी देखें। आवेदन आप अपने यहाँ के कृषि कार्यालय से कर सकते हैं।

    • सर उत्तर प्रदेश में अब नए आवेदन चुनाव के बाद नए बजट आने पर होंगे, तब आवेदन करें |

LEAVE A REPLY

अपना कमेंट लिखें
आपका नाम लिखें.