41 हजार किसानों के बैंक खातों में दिए गए समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के 258 करोड़ रुपये

11
37469
gehu kharidi ka bhugtan

समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी का भुगतान

देश भर में गेहूं की फसल की कटाई लॉकडाउन के बीच तेज गति से जारी है। रबी 2020 के दौरान फसल की कटाई एवं मड़ाई (थ्रेसिंग) एवं समर्थन मूल्य पर खरीदी भी साथ में चल रही हैं | राज्यों से प्राप्‍त जानकारी के अनुसार, मध्य प्रदेश में लगभग 98-99%, राजस्थान में 92-95%, उत्तर प्रदेश में 85-88%, हरियाणा में 55-60%, पंजाब में 60-65% और अन्य राज्यों में 87-88% गेहूं की फसल की कटाई हो चुकी है। रबी 2020-21 सीजन में मूल्य समर्थन योजना (पीएसएस) के तहत किसानों से एमएसपी पर दलहन एवं तिलहन की खरीद वर्तमान में कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में प्रगति पर है।

मध्यप्रदेश में किसानों को गेहूं खरीद का भुगतान

राज्य सरकारों के द्वारा गेहूं की फसल की खरीद के साथ ही किसानों को खरीद का भुगतान भी किया जाने लगा है | मध्य प्रदेश में इस वर्ष रबी उपार्जन में आज तक 4 लाख 75 हजार किसानों से 23 लाख मीट्रिक टन गेहूँ की समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा चुकी है। खरीदी के लिये 1360 करोड़ रूपये की राशि भुगतान के लिये स्वीकृत हुई है, जिसमें से 258 करोड़ रूपये 41 हजार किसानों के खातों में भुगतान कर दिया गया है। कुल उपार्जित गेहूँ में से 17 लाख 50 हजार मीट्रिक टन का गोदामों में सुरक्षित परिवहन किया जा चुका है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आज तक कुल 1 लाख 87 हजार किसानों को भुगतान के लिए 1360 करोड़ रूपये बैंकों को भिजवा दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें   पशुपालकों की आय बढ़ाने के लिए सरकार किसानों से खरीदेगी गोबर

चना, मसूर और कल से सरसों की खरीदी शुरू

प्रदेश में 29 अप्रैल से चना, मसूर और सरसों की खरीदी शुरू हो गई है | किसान एसएमएस मिलने पर ही अपनी फसल बेचने खरीदी केन्द्र पर आएं। 29 अप्रैल से प्रदेश में चना, मसूर की तथा 30 अप्रैल से सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी प्रारंभ की जाएगी। इसके लिए किसानों को एस.एम.एस भिजवा दिए गए हैं।

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

11 COMMENTS

    • दी गई लिंक पर देखें |https://kisansamadhan.com/crops-production/kharif-crops/maize-cultivation/

    • किस राज्य से हैं ? किस योजना के तहत पंजीकरण करना है |

  1. kissano ko karz pe karz de rahi sarkar. Matlab. Abhi Bharat m sirf ak Sal m 15000 Aur 20000 k lagbhg kissan aatamhatya karte h. Sarkar chahati h ki sabhi kissano ko karz m duba do aur fir bad m khud sale mar jayega. karz ka jab boj padega. Kya kar rahi sarkar kissano k liye. Kissano k liye sabse badi rahat h Inka krishi lone maff ho .desh k sabhi kissano ka all bank se sarkari gersarkari sabhi bank se sabhi garib kissano ka. Aur sarkar karz per karz de rahi. Galat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here