back to top
रविवार, अप्रैल 14, 2024
होमकिसान समाचारसिंचाई कूप योजना के तहत राज्य में किया जाएगा एक लाख कुआँ...

सिंचाई कूप योजना के तहत राज्य में किया जाएगा एक लाख कुआँ का निर्माण

बिरसा सिंचाई कूप योजना के तहत कुआँ का निर्माण

देश में किसानों को सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने एवं भूमिगत जलस्तर को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा कई योजनाएँ चलाई जा रही है। इस कड़ी में झारखंड सरकार ने राज्यभर में बिरसा सिंचाई कूप योजना के तहत 1 लाख कुआँ निर्माण का लक्ष्य रखा है, जिसके तहत हज़ारों लाभार्थियों को मंजूरी प्रदान की गई है। राज्य के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने ग्रामीण विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि बिरसा सिंचाई कूप योजना में धरातल में कुंआ दिखे, कागजी खेल नहीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार एवं मनरेगा के अभिसरण से बिरसा सिंचाई कूप संवर्धन योजना के तहत कुल एक लाख कूपों का निर्माण विभिन्न चरणों में किया जाना है। लेकिन मुख्यमंत्री इसके कार्य प्रगति को लेकर खुश नजर नहीं आए और जल्द से जल्द योजना का लाभ ग्रामीणों को देने का आदेश दिया है। योजना की शुरुआत इस वर्ष से ही की  गई है, ताकि जल संरक्षण को बल मिल सके एवं वाटर हार्वेस्टिंग के प्रति लोगों में जागरूकता का संचार हो सके। 

यह भी पढ़ें   सरकार ने जारी की 2000 रुपये की किस्त, फटाफट ऐसे चेक करें आपके बैंक खाते में आई या नहीं

15 नवंबर 2024 तक किया जाएगा 1 लाख कूप का निर्माण

बिरसा सिंचाई कूप संवर्धन योजना के तहत प्रथम चरण में 30 एवं द्वितीय चरण में 70 हजार कूप का निर्माण किया जाना है। सरकार ने वित्तीय वर्ष 2023-24 में 50 हजार एवं 15 नवंबर 2024 तक शेष 50 हजार कूप का निर्माण कार्य पूर्ण करेगी। योजना में बिरसा हरित ग्राम, कृषि कार्य से संबंधित लाभुक, बाबा साहेब आंबेडकर आवास योजना के लाभार्थी को प्राथमिकता देने की योजना है। साथ ही, निर्मित कुओं की स्थिरता एवं उपयोगिता बनाए रखने के लिए कुआं के आसपास जल संचयन और जल एवं मृदा संरक्षण के कार्य बड़े पैमाने पर करने का निर्देश है।

सभी जिलों में किया जाएगा कुआं का निर्माण

योजना के तहत प्रथम चरण के अब तक 16936 कुआं की स्वीकृति मिल चुकी है, 3822 कुआं का निर्माण कार्य जारी है। सबसे अधिक गिरिडीह में 8386, रांची में 7314, पलामू के 6460, हजारीबाग में 5973, पश्चिमी सिंहभूम में 5212, दुमका में 5022, बोकारो के 4876, देवघर में 4729, गोड्डा में 4608, पूर्वी सिंहभूम में 4291, साहेबगंज में 3949, गुमला में 3876, धनबाद में 3901, चतरा में 3706, पाकुड़ में 3120, जामताड़ा में 2877, लातेहार में 2804, कोडरमा में 2560, रामगढ़ में 2438, सिमडेगा में 2292 और लोहरदगा में 1606 कुआं निर्माण किया जाएगा।

यह भी पढ़ें   अब तक 13 लाख से अधिक किसानों को खेती किसानी के लिए दिया गया बिना ब्याज का कृषि ऋण

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
यहाँ आपका नाम लिखें

ताजा खबरें

डाउनलोड एप