182 लाख रूपये से सरकार करवा रही है नापेड कम्पोस्ट इकाई की स्थापना

0
887
views

नाफेड कंपोस्ट इकाई की स्थापना

कृषि में उर्वरक की बढती उपयोगिता से किसानों को कृषि लागत बढ़ रहा है | जितनी तेजी से उर्वरक की लागत बढ़ रही है उतनी ही तेजी से फसलों की लागत नहीं बढ़ रही  है | जिससे किसानों को खेती में नुकसान हो रहा है | केंद्र सरकार को भी कृषि में उपयोग होने वाले उर्वरक पर सब्सिडी को बढ़ाना पढ रहा है | वर्ष 2018 – 19 में 70 हजार करोड़ रुपया का सब्सिडी दिया गया है | जो इस वर्ष बढ़कर 74 हजार करोड़ रुपये हो गया है | केवल यूरिया पर ही केंद्र सरकार लगभग 50 हजार करोड़ रुपया का सब्सिडी देती है | केंद्र तथा राज्य सरकार लगातार जैविक खेती की तरफ किसानों को प्रोत्साहन दे रही है |

कहाँ की जाएगी स्थापना 

इसी कड़ी में बिहार सरकार ने किसानों की कृषि लागत कम करने के लिए जैव उर्वरक का बढ़ावा दे रही है | बिहार सरकार ने जैव उर्वरक के बढ़ाबा देने के लिए कृषि विकास योजना के मापदंडों के अनुरूप राष्ट्रीय कृषि विकास योजना – रफ्तार से नापेड कम्पोस्ट इकाई का निर्माण करा रही है | इस योजना के अंतर्गत बिहार राज्य के 13 आकांक्षी जिलों गया, नवादा, ओरंगाबाद, बांका, जमुई, खगड़िया, शेखपुरा, बेगुसराय, मुज्जफरपुर, सीतामढ़ी, पूर्णिया, अररिया एवं कटिहार को शामिल किया गया है | इन सभी जिलों में 10 – 10 गांव का चयन किया गया है | जिसमें प्रत्येक जिले के 20 – 20 नापेड कम्पोस्ट का निर्माण किया जायेगा | राज्य के इन 13 जिलों चयनित गाँव में कुल 26,00 नैडेप कम्पोष्ट इकाई का स्थापना किया जायेगा , जिसके लिए कुल 182 लाख रूपये व्यय किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   राजस्थान में दूध उत्पादक किसानों को दिया जायेगा 2 रू/लीटर का बोनस

                  राज्य सरकार इतनी संख्या में नैडेप कम्पोष्ट एअकई का निर्माण हो जाने से तय समय में अधिक से अधिक गुणवत्तापूर्ण कम्पोष्ट का उत्पादन होगा | जिनसे जैविक खेती योजना को बल मिलेगा एवं किसान खुशहाल होंगे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here