182 लाख रूपये से सरकार करवा रही है नापेड कम्पोस्ट इकाई की स्थापना

0
843
views

नाफेड कंपोस्ट इकाई की स्थापना

कृषि में उर्वरक की बढती उपयोगिता से किसानों को कृषि लागत बढ़ रहा है | जितनी तेजी से उर्वरक की लागत बढ़ रही है उतनी ही तेजी से फसलों की लागत नहीं बढ़ रही  है | जिससे किसानों को खेती में नुकसान हो रहा है | केंद्र सरकार को भी कृषि में उपयोग होने वाले उर्वरक पर सब्सिडी को बढ़ाना पढ रहा है | वर्ष 2018 – 19 में 70 हजार करोड़ रुपया का सब्सिडी दिया गया है | जो इस वर्ष बढ़कर 74 हजार करोड़ रुपये हो गया है | केवल यूरिया पर ही केंद्र सरकार लगभग 50 हजार करोड़ रुपया का सब्सिडी देती है | केंद्र तथा राज्य सरकार लगातार जैविक खेती की तरफ किसानों को प्रोत्साहन दे रही है |

कहाँ की जाएगी स्थापना 

इसी कड़ी में बिहार सरकार ने किसानों की कृषि लागत कम करने के लिए जैव उर्वरक का बढ़ावा दे रही है | बिहार सरकार ने जैव उर्वरक के बढ़ाबा देने के लिए कृषि विकास योजना के मापदंडों के अनुरूप राष्ट्रीय कृषि विकास योजना – रफ्तार से नापेड कम्पोस्ट इकाई का निर्माण करा रही है | इस योजना के अंतर्गत बिहार राज्य के 13 आकांक्षी जिलों गया, नवादा, ओरंगाबाद, बांका, जमुई, खगड़िया, शेखपुरा, बेगुसराय, मुज्जफरपुर, सीतामढ़ी, पूर्णिया, अररिया एवं कटिहार को शामिल किया गया है | इन सभी जिलों में 10 – 10 गांव का चयन किया गया है | जिसमें प्रत्येक जिले के 20 – 20 नापेड कम्पोस्ट का निर्माण किया जायेगा | राज्य के इन 13 जिलों चयनित गाँव में कुल 26,00 नैडेप कम्पोष्ट इकाई का स्थापना किया जायेगा , जिसके लिए कुल 182 लाख रूपये व्यय किया जायेगा |

यह भी पढ़ें   मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी इन जगहों पर फिर हो सकती है बारिश एवं ओलावृष्टि

                  राज्य सरकार इतनी संख्या में नैडेप कम्पोष्ट एअकई का निर्माण हो जाने से तय समय में अधिक से अधिक गुणवत्तापूर्ण कम्पोष्ट का उत्पादन होगा | जिनसे जैविक खेती योजना को बल मिलेगा एवं किसान खुशहाल होंगे |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here