राज्य में 57 हजार से अधिक किसानों को दिया जाएगा फसल नुकसानी का मुआवजा

10
62674
fasal nuksan muavja
kisan app download

फसल नुकसानी का मुआवजा

पिछले दिनों कई जगहों पर असमय हुई आंधी बारिश एवं ओलावृष्टि से रबी फसलों को काफी नुकसान हुआ था | इस नुकसान की भरपाई के लिए राज्य सरकारों के द्वारा किसानों को मुआवजा देने की घोषणा की गई थी | जिसकी राशि अभी तक सभी किसानों को नहीं दी गई है | जिन किसानों को फसल बीमा था उसका क्लेम राज्य सरकारों के द्वारा बीमा कंपनियों को भुगतान किये जाने के बाद किया जाने लगा है, परन्तु ऐसे किसान जिनका फसल बीमा नहीं था उन्हें अभी तक अनुदान राशि नहीं दी गई है |

राजस्थान राज्य सरकार ने रबी सीजन के दौरान ओलावृष्टि से हुए फसल खराबे से प्रभावित किसानों को कृषि आदान-अनुदान भुगतान के लिए 55.38 करोड़ रूपये तथा अंधड़ एवं तूफान से हुई जन हानि वाले प्रभावित आश्रितों को 52 लाख रूपये की सहायता राशि आवंटित की है। साथ ही बाढ़, सूखा एवं टिड्डी प्रभावितों की सहायता के लिए अतिरिक्त राशि आवंटन के लिए केंद्र सरकार को ज्ञापन भिजवाया गया है।

57 हजार से अधिक किसानों को मुआवजा देने के लिए 55.38 करोड़ रूपये का बजट

आपदा प्रबन्धन एवं सहायता विभाग के शासन सचिव श्री सिद्धार्थ महाजन ने बताया कि फरवरी महीने के अन्तिम सप्ताह एवं मार्च के पहले सप्ताह में हुई ओलावृष्टि से भरतपुर जिले की भरतपुर, कुम्हेर, नदबई. डीग, नगर एवं रूपवास तहसीलों में  रबी की फसलों में काफी नुकसान हुआ था। राज्य सरकार के निर्देशानुसार त्वरित सहायता पहुंचाने के लिए भरतपुर जिले की इन छह तहसीलों के 33 प्रतिशत या इससे अधिक का फसल खराबा होने वाले 57 हजार 211 काश्तकारों को कृषि आदान- अनुदान भुगतान के लिए 55.38 करोड़ रूपये का बजट आवंटन किया गया है।

यह भी पढ़ें   छत्तीसगढ़ के किसानों को कर्ज माफ़ी के साथ मिली यह सौगातें

राज्य सरकार ने भरतपुर विधान सभा क्षेत्र में ओलावृष्टि के कारण हुये नुकसान के मुआवजे के रूप में 28 करोड़ रुपये की राशि जिला कलक्टर को मुहैया करा दी है लेकिन कुछ पटवारियों द्वारा नुकसान को समय पर ऑनलाइन नहीं किया गया है जिसकी वजह से इन किसानों को समय पर मुआवजा नहीं मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि ऎसी स्थिति में सभी पटवारियों को निर्देश जारी करें कि वे कोरोना संक्रमण की रोकथाम के कार्य के साथ-साथ ऑनलाइन का कार्य भी करें। तहसीलदार को प्रतिदिन ऑनलाइन कार्य की प्रगति की सूचना भिजवानें के निर्देश भी दिये।

अतिरिक्त राशि आवंटन के लिए केंद्र सरकार को ज्ञापन

बाढ़ एवं अत्यधिक वर्षा से प्रभावितों को सहायता प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार से अतिरिक्त सहायता राशि उपलब्ध कराने के लिए 2645.86 करोड़ रुपए का ज्ञापन प्रेषित किया गया जिसके विरूद्ध  622.97 करोड़ रुपए विभाग को प्राप्त हो गए हैं । खरीफ फसल 2019 में सूखे से प्रभावितों को राहत प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार से अतिरिक्त सहायता राशि चाहने के लिए 707 करोड़ रुपए का ज्ञापन भिजवाया गया जिसके विरुद्ध 161.63 करोड़ रुपए प्राप्त हुए हैं। वहीँ रबी फसल 2019 में टिड्डी से प्रभावितों को राहत प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार से अतिरिक्त सहायता राशि आवंटन के लिए 303.40 करोड़ रुपए का ज्ञापन भिजवाया गया है।

यह भी पढ़ें   एक बार फिर हो सकता है फसलों पर टिड्डी कीटों का हमला

किसान समाधान के YouTube चेनल की सदस्यता लें (Subscribe)करें

kisan samadhan android app

10 COMMENTS

  1. Sir kissano ki KCC maff honi chahiye kitne kissan h jo Sal m aatamhatya karte h karz ki bajeh se. Karona sankat ki iss ghari m kissano ko dubble mar pad rahi hai kai jaghe kissano ke fasal ka nuksan hua hai bemousam Barish Olavrishity. Kahn se dege kissan karz. Please Inka lone maff ho sabhi banko se sarkari gersarkari sabhi desh k garib kissano ka. Dhanyawad.

  2. Mera pm kisan credit card abhi tak nahi mila hai two month ho gaya hai kab tak milega massage bheje

    • जिस बैंक में सम्मान निधि का पैसा आ रहा है वहां से सम्पर्क करें |

    • जल्फद दिया जाना है आप सल बीमा कंपनी एवं स्थानीय अधिकारीयों से सम्पर्क करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here